दूसरे दिन का खेल खत्म, भारत के चार विकेट पर 130 रन

  • दूसरे दिन का खेल खत्म, भारत के चार विकेट पर 130 रन
You Are HereSports
Friday, February 07, 2014-11:26 AM

आकलैंड: कप्तान ब्रैंडन मैकुलम के दोहरे शतक और भारतीय शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों के फिर से खराब प्रदर्शन के कारण न्यूजीलैंड ने पहले टेस्ट क्रिकेट मैच पर आज मजबूत शिकंजा कस दिया। मैकुलम ने 224 रन की बेहतरीन पारी खेली जिससे न्यूजीलैंड ने इशांत शर्मा के छह विकेट के बावजूद अपनी पहली पारी में 503 रन का मजबूत स्कोर खड़ा किया। खराब रोशनी के कारण जब दूसरे दिन का खेल रोका गया तब भारत चार विकेट पर 130 रन बनाकर संघर्ष कर रहा था। रोहित शर्मा ने अच्छी तरह से एक छोर संभाल रखा है और वह 67 रन पर खेल रहे हैं।

उनके साथ दूसरे छोर पर अंजिक्य रहाणे 23 रन पर खेल रहे हैं। भारत अब भी न्यूजीलैंड से 373 रन पीछे है और उसे फालोआन बचाने के लिए 174 रन चाहिए। भारत की शुरुआत बेहद खराब रही और उसके शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों ने फिर से निराश किया। शिखर धवन (शून्य), चेतेश्वर पुजारा (1) और फार्म में चल रहे विराट कोहली (4) ने निराश किया। मुरली विजय (26) भी अपनी पारी के दौरान जूझते हुए नजर आए। भारतीय बल्लेबाजों ने सीम और स्विंग लेती गेंदों पर अपने विकेट गंवाये। बायें हाथ के गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट (20 रन देकर दो विकेट) ने भारत को पारी के पहले ओवर में ही दो करारे झटके दिए।

धवन की विदेशी पिचों पर गलत तकनीक का फिर से खुलासा हो गया। उन्होंने पारी की दूसरी गेंद पर ही केन विलियमसन को गली में आसान कैच थमाया। बोल्ट ने इसके बाद इसी ओवर की आखिरी गेंद पर पुजारा को पवेलियन भेजा जिन्होंने काफी बाहर जाती गेंद से छेडऩे की सजा भुगती। भारत का भरोसा अब कोहली पर था लेकिन साउथी की उठती गेंद को समझने में वह भी नाकाम रहे जो उनके दस्ताने को चूमकर दूसरी स्लिप में पीटर फुल्टन के सुरक्षित हाथों में समाई। इससे भारत का स्कोर तीन विकेट पर 10 रन हो गया।

भारत ने चाय के विश्राम के तुरंत बाद विजय का विकेट गंवाया। नील वैगनर की राउंद द विकेट की गई खूबसूरत गेंद ने विजय को पूरी तरह से चकमा देकर विकेट उखाड़ दिए। रोहित ने मुश्किल परिस्थितियों में क्रीज पर कदम रखा था। उन्होंने विजय के साथ चौथे विकेट के लिए 41 रन जोड़े। विजय के आउट होने के बाद उन्होंने वैगनर को करारा जवाब देने की ठानी और उनके एक ओवर में तीन चौके जड़कर बायें हाथ के इस तेज गेंदबाज को हावी नहीं होने दिया।

रहाणे ने शुरू में काफी सतर्कता बरती। इस बीच बोल्ट ने उनके खिलाफ पगबाधा की विश्वसनीय अपील भी की लेकिन अंपायर स्टीव डेविस ने उसे ठुकरा दिया। रोशनी कम होने पर दोनों छोर से स्पिनरों को लगाया गया। इस बीच रोहित ने विलियमसन पर पारी का पहला छक्का भी जड़ा। इससे पहले मैकुलम ने अपनी प्रवाहमय बल्लेबाजी जारी रखी और दोहरा शतक जमाया। उन्होंने ने 307 गेंदों पर 29 चौकों और पांच गगनदाई छक्कों की मदद से 224 रन बनाए।

मैकुलम आउट होने वाले आखिरी बल्लेबाज थे। इशांत की गेंद पर रविंद्र जडेजा ने सीमा रेखा पर अच्छा संतुलन बनाए रखकर उन्हें कैच आउट किया। इशांत ने 134 रन देकर छह विकेट हासिल किए। यह उनके करियर में चौथा अवसर है जब उन्होंने पारी में पांच या इससे अधिक विकेट लिए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You