पुतिन की पटकथा के मुताबिक नहीं हुई ओलंपिक की शुरुआत

  • पुतिन की पटकथा के मुताबिक नहीं हुई ओलंपिक की शुरुआत
You Are HereSports
Saturday, February 08, 2014-3:41 PM

सोची: रूस के राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन सोच्चि शीतकालीन ओलंपिक खेलों के माध्यम से दुनिया के सामने अपने देश की चमकदार छवि दिखाना चाहते थे लेकिन शुक्रवार को इन खेलों का उद्घाटन समारोह उनकी इस पटकथा पर खरा नहीं उतरा। उद्घाटन समारोहों के दौरान आई तकनीकी खराबी और ओलंपिक ज्योति को प्रज्ज्वलित करने के लिए अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा की नस्लवादी तस्वीर को ‘रिटवीट’ करने वाले खिलाडी के चुनाव से ये खेल एक बार फिर विवादों में आ गए।

ओलंपिक खेलों के प्रतीक पांच छल्लों में से एक में आतिशबाजी के बाद रोशनी प्रज्ज्वलित नहीं हुई और सरकारी टेलीविजन ने इस क्षण को दर्शकों से छिपाने की कोशिश की। इतना ही नहीं एक महिला संगीतकार की शिकायत थी कि उद्घाटन समारोह में उनकी अनुमति के बिना उनके संगीत का इस्तेमाल किया गया। उद्घाटन समारोह के क्रिएटिव डायरेक्टर कोंस्टाटिंन अनस्र्ट ने इस तकनीकी खराबी को ‘चलता है’ बताकर टालने की कोशिश की लेकिन उनकी यह कोशिश कामयाब नहीं हुई। उन्होंने कहा ‘ढाई घंटे तक चले इस शो में एक तकनीकी खराबी कोई बडी बात नहीं है। बौद्ध लोगों में यह कहावत है कि अगर आपके पास एक पालिश की गई शानदार बाल है तो उस पर एक हल्की खरोच छोड देनी चाहिए ताकि आपको यह अहसास हो कि इसे किसने अच्छे ढंग से पालिश किया गया है।’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You