हंगरी के टूर्नामेंट में हर साल भाग लेंगे भारतीय मुक्केबाज

  • हंगरी के टूर्नामेंट में हर साल भाग लेंगे भारतीय मुक्केबाज
You Are HereSports
Monday, February 10, 2014-4:32 PM

नई दिल्ली: भारतीय मुक्केबाजों के हंगरी में 58वें बोक्सकाई अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन को देखते हुए आयोजकों ने उन्हें अब इस प्रतियोगिता के लिए स्थायी आमंत्रितों में शामिल किया है। इससे भारतीय मुक्केबाज इस टूर्नामेंट में हर साल भाग ले सकते हैं। भारतीयों ने इस टूर्नामेंट में अंतर्राष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ (एआईबीए) के ध्वज तले भाग लिया था क्योंकि भारतीय संघ अस्थायी निलंबन झेल रहा है। भारत एक स्वर्ण, एक रजत और दो कांस्य पदक जीतकर इस प्रतियोगिता में 22 देशों के बीच चौथे स्थान पर रहा था।

ओलंपियन एल देवेंद्रो सिंह (49 किग्रा) ने स्वर्ण पदक जीता जबकि राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता मनोज कुमार (64 किग्रा) ने रजत पदक हासिल किया। सुमित सांगवान (81 किग्रा) और सुनील कुमार (57 किग्रा) ने कांस्य पदक जीते। राष्ट्रीय कोच गुरबख्श सिंह संधू ने टीम के हंगरी से स्वदेश लौटने के बाद कहा, ‘‘हम 22 टीमों के बीच चौथे स्थान पर रहे और मैं इस प्रदर्शन से खुश हूं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘आयोजक भारतीय मुक्केबाजों के प्रदर्शन से काफी प्रभावित थे और उन्होंने अब हमें स्थायी आमंत्रितों की सूची में शामिल कर लिया है। वे चाहते हैं कि हमारे मुक्केबाज हर साल इस प्रतियोगिता में हिस्सा लें। यह हमारे लिये बड़ी उपलब्धि है।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You