भारत के शर्मनाक न्यूजीलैंड दौरे का अंत टेस्ट श्रृंखला में हार के साथ

  • भारत के शर्मनाक न्यूजीलैंड दौरे का अंत टेस्ट श्रृंखला में हार के साथ
You Are HereSports
Tuesday, February 18, 2014-11:05 AM

वेलिंगटन: ब्रेंडन मैकुलम टेस्ट क्रिकेट में तिहरा शतक जडऩे वाले पहले कीवी बल्लेबाज बन गए जबकि दूसरा और आखिरी टेस्ट ड्रॉ रहने के साथ ही दो टेस्ट मैचों की श्रृंखला में 1-0 से हार के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के निराशाजनक न्यूजीलैंड दौरे का अंत आज हो गया। भले ही दूसरा मैच ड्रॉ रहा हो लेकिन इस पर पूरी तरह से न्यूजीलैंड का दबदबा रहा। कप्तान ब्रेंडन मैकुलम ने 302 रन की ऐतिहासिक पारी खेली, विकेटकीपर बी जे वाटलिंग ने 124 और टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने वाले जेम्स नीशाम ने नाबाद 137 रन बनाए।

न्यूजीलैंड ने दूसरी पारी आठ विकेट पर 680 रन पर घोषित करके भारत को जीत के लिए 435 रन का असंभव सा लक्ष्य दिया। भारत ने 52 ओवर में तीन विकेट पर 166 रन बना लिए थे जब दोनों कप्तानों ने कोई नतीजा नहीं निकलता देख ड्रॉ पर रजामंदी जता दी। विराट कोहली अपना छठा टेस्ट शतक जमाकर 105 रन पर नाबाद रहे जबकि रोहित शर्मा ने 31 रन बनाए। भारतीय टीम के लिए न्यूजीलैंड दौरा निराशाजनक रहा जिसमें वह जीत का स्वाद चख ही नहीं सकी। वन डे श्रृंखला 0-4 से हारने के बाद टेस्ट श्रृंखला में भी 0-1 से पराजय झेलनी पड़ी। न्यूजीलैंड ने आकलैंड टेस्ट 40 रन से जीता था।

न्यूजीलैंड के दूसरी पारी के पांच विकेट 94 रन पर उखाडऩे के बाद भारत यह टेस्ट जीतने की ओर अग्रसर लग रहा था लेकिन मैकुलम और वाटलिंग ने छठे विकेट के लिए विश्व रिकार्ड 352 रन की सांझेदारी करके मेजबान की मैच में वापसी कराई। मैकुलम ने न्यूजीलैंड के लिए सर्वोच्च टेस्ट स्कोर का मार्टिन क्रो का 299 रन का रिकार्ड तोड़ा जो उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ इसी मैदान पर 1991 में बनाया था।

टेस्ट क्रिकेट में पांचवें नंबर के बल्लेबाज का यह तीसरा सर्वोच्च स्कोर है। इस क्रम पर उनसे अधिक रन माइकल क्लार्क (भारत के खिलाफ 2012 में नाबाद 329) और सर डान ब्रैडमेन (इंग्लैंड के खिलाफ 1934 में 304 रन) ने बनाए हैं। मैकुलम दूसरी पारी में सर्वोच्च व्यक्तिगत स्कोर बनाने वाले दूसरे बल्लेबाज बन गए। उनसे अधिक रन दूसरी पारी में पाकिस्तान के हनीफ मोहम्मद (337) ने 1958 में वेस्टइंडीज के खिलाफ बनाए थे। वह तिहरा शतक जडऩे वाले 24वें टेस्ट बल्लेबाज बने।

जीत के लिए 435 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत ने लंच के बाद अपने तीन शीर्ष बल्लेबाजों के विकेट गंवा दिए। कोहली ने हालांकि मोर्चा संभाला और 135 गेंद में 15 चौकों और एक छक्के की मदद से नाबाद 105 रन बनाकर टीम को संकट से निकाला। कोहली ने अपना शतक पारी के 49वें ओवर में 129 गेंद पर पूरा किया। उन्हें लंच के बाद 13वें ओवर में 23 के निजी योग पर जीवनदान मिला जब अंपायर स्टीव डेविस ने ट्रेंट बोल्ट की गेंद पर कैच आउट की अपील को खारिज कर दिया।

इसका फायदा उठाते हुए कोहली ने रोहित के साथ चौथे विकेट की नाबाद सांझेदारी में 112 रन जोड़े। सुबह के सत्र में न्यूजीलैंड ने मैकुलम के 302 और नीशाम के नाबाद 137 रन के बाद अपनी दूसरी पारी आठ विकेट पर 680 रन पर घोषित की। लंच के बाद बिना किसी नुकसान के 10 रन से आगे खेलते हुए भारत को टेस्ट बचाने के लिए दो सत्र विकेट बचाकर खेलना था लेकिन शीर्षक्रम नाकाम रहा। सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (2) और मुरली विजय (7) खेल बहाल होते ही आउट हो गए। धवन लंच के बाद पहले ही ओवर में बोल्ट की गेंद पर पगबाधा आउट हुए जबकि अगले ओवर में विजय ने टिम साउदी की गेंद पर तीसरी स्लिप में कोरी एंडरसन को कैच थमाया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You