धोनी पर जी का पलटवार, कहा साक्ष्यों के साथ उच्चतम न्यायालय गए थे

  • धोनी पर जी का पलटवार, कहा साक्ष्यों के साथ उच्चतम न्यायालय गए थे
You Are HereSports
Wednesday, March 19, 2014-11:49 AM

नई दिल्ली: देश की प्रमुख मीडिया कंपनी जी मीडिया कॉरपोरेशन लि. ने भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी द्वारा मद्रास उच्च न्यायालय में दायर मानहानि के मुकद्दमे में लगाए गए आरोपों का जोरदार खंडन किया है। धोनी ने आरोप लगाया है कि जी न्यूज ने उनके बारे में ‘दुर्भावनापूर्ण’ खबरें चलाई। मद्रास उच्च न्यायालय ने जी न्यूज और न्यूज नेशन चैनल को इंडियन प्रीमियर लीग के सट्टेबाजी और फिक्सिंग मामले में धोनी से जुड़ी किसी तरह का समाचार चलाने से रोक दिया।

न्यायमूर्ति एस तमिलवनान ने जी मीडिया कॉरपोरेशन के खिलाफ धोनी द्वारा दायर 100 करोड़ रुपए मानहानि के मुकद्दमे पर अंतरिम आदेश पारित किया। यह अंतरिम आदेश दो हफ्ते तक प्रभावी रहेगा। धोनी ने जी मीडिया कॉरपोरेशन पर कथित रूप से ‘दुर्भावनापूर्ण’ खबरों जैसे कि वह आईपीएल मैचों में सट्टेबाजी, स्पॉट और मैच फिक्सिंग में शामिल हैं, के प्रसारण के लिए 100 करोड़ रुपए के हर्जाने की मांग की।

समाचार चैनल हालांकि अपनी इस बात पर कायम है कि उसने धोनी की छवि खराब करने के लिए प्रसारण या किसी तरह की फुटेज या बातचीत नहीं दिखाई। चैनल ने साफ किया कि उसने 24 और 28 फरवरी को प्रसारित स्टिंग ऑपरेशन के दौरान वह खबर प्रसारित की जो विंदू दारा सिंह और आईपीएस अधिकारी संपत कुमार के खुलासे पर आधारित थी।

चैनल ने बयान में कहा, ‘‘जी मीडिया कॉरपारेशन ने एक जिम्मेदार समाचार चैनल के तौर पर उपर कहे गए स्टिंग और साथ ही न्यायमूर्ति मुदगल द्वारा उच्चतम न्यायालय में दायर रिपोर्ट के आधार पर स्टोरी तैयार की। समाचार चैनल ने तथ्यों के आधार पर स्टिंग आपरेशन किया।’’ बयान में कहा गया है, ‘‘जी मीडिया कॉरपोरेशन लि. ने बिहार क्रिकेट संघ के लंबित मामले में पहले ही उच्चतम न्यायालय में अपने पास मौजूद साक्ष्यों के साथ हस्तक्षेप की अर्जी दाखिल कर रखी है।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You