गलत मुहूर्त में रवाना हुई थी क्रिकेट टीम

  • गलत मुहूर्त में रवाना हुई थी क्रिकेट टीम
You Are HereCricket
Sunday, March 23, 2014-2:39 PM

जालंधर: भारतीय क्रिकेट टीम की टी-20 विश्व कप के लिए रवानगी गलत मुहूर्त में बी.सी.सी.आई. द्वारा करवाई गई। कंडाघाट के ज्योतिषी पंडित राजीव शर्मा शूर ने बताया कि बी.सी.सी.आई. को भारतीय संस्कृति का पूर्ण ज्ञान नहीं है। उन्होंने कहा कि होलाष्टक फागुन मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी से शुरू हो जाते हैं। इस वर्ष ये 8 मार्च से शुरू हो चुके थे तथा 16 मार्च को समाप्त हुए परन्तु भारतीय क्रिकेट टीम ने 14 मार्च को मीन लग्न में रवानगी की।

उन्होंने कहा कि उस समय गंडमूल नक्षत्र भी था, इसीलिए टीम पहला अभ्यास मैच भी हार गई थी, परन्तु पाक से मिली जीत के बाद आगे यह सिलसिला जारी रहेगा, इस पर संशय है। इस बीच उन्होंने कहा कि हाल ही में क्रिकेट टीम द्वारा दोनों दौरों पर गलत मुहूर्त पर जाने से टीम को हानि हुई थी। इसी कारण एशिया कप से भी टीम बैरंग वापस लौट आई थी।

उन्होंने कहा कि गंडमूल नक्षत्र  कष्ट और हानि देता है। मीन लग्न द्विस्वभाव का है जो कम लाभ तथा अधिक हानि देता है। वहीं पर दूसरी ओर मीन लग्न से 8वें घर में मंगल, शनि और राहु चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि जीत के बाद हानि योग तो वहीं गुप्त शत्रु भाव षष्टम में चंद्रमा यात्रा के लिए निषेध माना गया है।

सूर्य द्वादश भाव में बुध के साथ अस्त होने से प्रशासन से ट्राफी का लाभ लेने में फलदायी नहीं होता है। उन्होंने कहा कि गंडमूल चंद्रमा की स्थिति चंद्र दोषकारक है। उन्होंने कहा कि भारत की आजादी के समय वृष लग्न था। इसीलिए अब तक देश को कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि टी-20 में अगर टीम फाइनल तक भी पहुंच जाए तो कोई चमत्कार ही माना जाएगा।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You