मैं शीशा देखता हूं तो दाढी के सफेद बाल दिखते हैं: धोनी

  • मैं शीशा देखता हूं तो दाढी के सफेद बाल दिखते हैं: धोनी
You Are HereSports
Monday, March 31, 2014-5:02 PM

मीरपुर: जोहानिसबर्ग में 2007 में भारत को टी20 विश्व कप खिताब दिलाने के बाद से अब तक महेंद्र सिंह धोनी के लिए हालात काफी बदल चुके हैं और भारतीय कप्तान का मानना है कि ये बदलाव उनमें ही नहीं बल्कि उनके आसपास भी आए हैं। टी20 विश्व कप 2007 से अब तक बदलावों के बारे में पूछने पर धोनी ने कहा, ‘‘अब मुझे पहले से ज्यादा मीडिया यहां दिख रहा है।’’

धोनी पर मंडरा रहा है एक और खतरा!
    
उन्होंने कहा, ‘‘उस समय किसी ने टूर्नामेंट को गंभीरता से नहीं लिया था। एक समूह इंग्लैंड से दक्षिण अफ्रीका जा रहा था जबकि दूसरा समूह भारत से आया था। टी20 को मजाक में लिया जाता था। उस समय बाल आऊट भी था जिसका हमने काफी अभ्यास किया। हमने पाकिस्तान के खिलाफ बॉल आउट पर जीत दर्ज की थी।’’

उन्होंने अपने भीतर आए बदलावों के बारे में कहा, ‘‘अब मैं शीशे में देखता हूं तो दाढी में कई सफेद बाल दिखते हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘बहुत कुछ बदल गया है। अब प्रतिस्पर्धा काफी कड़ी हो गई है। बल्लेबाज नए शॉट खेलने लगे हैं।’’ अपेक्षाओं के दबाव के बारे में उन्होंने कहा कि एक आदमी की अपेक्षा हो या एक अरब की, हालात एक से रहते हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You