दूसरे मैच में भारत का पलड़ा भारी

  • दूसरे मैच में भारत का पलड़ा भारी
You Are HereCricket
Sunday, October 02, 2016-8:33 AM

गावस्कर ने कॉलम कहा....

नई दिल्ली: भुवनेश्वर कुमार ऐसे क्रिकेटर हैं, जिनका काम हमेशा बोलता है। कानपुर में 500वें टैस्ट में नहीं खिलाने पर वह आसानी से नाराज हो सकते थे क्योंकि एक मैच पहले ही वैस्टइंडीज में उन्होंने 5 विकेट लिए थे।  उसके बाद अगला मैच बारिश की भेंट चढ़ गया था। खैर छोडि़ए इन बातों को, इस सीम गेंदबाज ने एक और 5 विकेट लेकर वही किया, जो भारतीय टीम में होने के लिए चाहिए। उनके प्रदर्शन के बाद ईडन गार्डन में खेले जा रहे दूसरे मैच में भारत का पलड़ा भारी हो गया है।

इससे पहले रिद्धिमान साहा ने एक और मजबूत पारी खेलते हुए अद्र्धशतक लगाया और भारत को अतिरिक्त रन दिलाए। साहा, अश्विन और जडेजा ने भारतीय बल्लेबाजी को ऐसी गहराई दे दी है जिसे देखकर कोई भी कप्तान खुश होगा। इस पिच पर बल्लेबाजी आसान नहीं होगी क्योंकि यहां टैनिस बॉल जैसा उछाल है। ऐसी पिच पर कोई बल्लेबाज निश्चिंत नहीं हो सकता और उसे हर समय सजग रहना होगा। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You