फुटबाल के बुनियादी ढांचे में सुधार जरूरी: भूटिया

  • फुटबाल के बुनियादी ढांचे में सुधार जरूरी: भूटिया
You Are HereFootball
Tuesday, November 08, 2016-3:00 PM

नई दिल्ली : पूर्व भारतीय कप्तान बाईचुंग भूटिया ने देश में फुटबॉल के विकास के लिए बुनियादी ढांचे में सुधार करने की जरुरत पर बल दिया है।   भूटिया ने यहां विजयन, जो पॉल अंचेरी और ब्रुनो कौत्निहो के साथ फीफा के क्षेत्रीय विकास अधिकारी दक्षिण एवं मध्य एशिया शाजी प्रभाकरन द्वारा लिखी गई किताब‘ बैक टू द  रूट्स, ए डेफिनिटिव गाइड टू ग्रासरूट्स एंड फुटबॉल डेवलेपमेंट’ को लांच करने के बाद यह बात कही।

पूर्व कप्तान ने कहा, मेरे समय में सुब्रतो कप के अलावा मैंने सिर्फ एक अंडर-16 राष्ट्रीय टूर्नामेंट खेला था। लेकिन आईएम विजयन जैसे खिलाड़ी ने कोई भी उम्र ग्रुप का टूर्नामेंट नहीं खेला था। लेकिन अब आ रहे युवाओं को कई मौके मिल रहे हैं। मुझे लगता है कि देश में फुटबॉल को बढ़ावा देने के कई अवसर बने हैं लेकिन इसके लिए हमें बुनियादी ढांचे के क्षेत्र में सुधार करना होगा। एआईएफएफ के अध्यक्ष प्रफुल्ल पटेल ने कहा, हमारे पास अच्छे मैदान हैं। अभी फीफा ने हमारे छह स्टेडियमों को अगले साल होने वाले अंडर-17 विश्वकप के लिए मंजूरी दी है और छह वैकल्पिक स्टेडियमों को भी मंजूरी मिली है।

हमें इसे व्यापक दृश्य में देखना चाहिए। मुद्दा है कि पैसा कहां हैं, क्रिकेट के अलावा भारतीय खेलों में कोई पैसा नहीं है। हॉकी में कोई पैसा नहीं है, निश्चित रूप से न ही फुटबॉल में और न ही अन्य ओलंपिक खेलों में पैसा है। इस दिशा में सुधार की जरूरत है। उन्होंने साथ ही अंडर-16 एशिया कप और अंडर-17 ब्रिक्स कप आयोजित कराने के लिए अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआईएफएफ) की भी तारीफ की।


 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You