जब युवी-भज्जी की मजाक से गांगुली छोड़ने को तैयार हो गए थे कप्तानी

  • जब युवी-भज्जी की मजाक से गांगुली छोड़ने को तैयार हो गए थे कप्तानी
You Are HereCricket
Wednesday, November 16, 2016-4:10 PM

नई दिल्ली:  टीम इंडिया के स्टार खिलाड़ी युवराज सिंह और हरभजन सिंह में काफी अच्छी दोस्ती है। दोनों क्रिकेट के मैदान के साथ असल जिंदगी में भी हंसी मजाक में लगे रहते हैं। इसी दौरान दोनों ने एकबार टीम इंडिया के कप्तान सौरव गांगुली से भी ऐसा मजाक किया था, कि वे कप्तानी छोड़ने को तैयार हो गए थे। दरअसल, ये मामला उस समय है जब टीम इंडिया कमान सौरव गांगुली के हाथों में थी। इसी दौरान दोनों ने मिल कर गांगुली के साथ मजाक किया। जिसके बारे में भज्जी ने एक इंटरव्यू में बताया। 

तीनों ने मिलकर इस तरह की थी गांगुली की खिंचाई
उन्होंने कहा कि मैंने युवराज और जहीर के साथ मिलकर दादा की खिंचाई करने की प्लानिंग की और इसके लिए फूलप्रूफ प्लान भी बना लिया। साथ ही उन्होंने कहा कि हमारे हाथ प्रेस रिलीज का वो पेपर लग गया था, जिसका इस्तेमाल कप्तान और बोर्ड अधिकारी ऑफिशियल स्टेटमेंट के लिए करते हैं। 

प्रेस रिलीज पर  गांगुली के कर लिए थे नकली साइन 
उन्होंने बताया कि हमने उस पेपर पर ऐसा बयान टाइप कर लिया, जिसमें लिखा था कि हरभजन, युवराज और जहीर गेम को लेकर सीरियस नहीं है, बहुत पार्टी करते हैं और लड़कियों के साथ घूमते हैं। हमने इस प्रेस रिलीज पर दादा के नकली साइन भी कर दिए। तीनों खिलाड़ी अगले दिन टीम प्रैक्टिस से पहले उस पेपर को लेकर गांगुली से बात करने के लिए उनके पास पहुंच गए। तीनों काफी नराजगी दिखा रहे थे। जिसके बाद आरोपों को सुन गांगुली भी हैरान रह गए और उन्होंने ऐसी बातों को पूरी तरह गलत बताया और बार-बार अपनी सफाई दी लेकिन दोनों ने उनकी एक नहीं सुनी। 

गांगुली ने इन आरोपों को झूठ
उन्होंने बताया कि हम तीनों ने गुस्सा से अपनी बैग पैक कर लिया और टीम में खेलने से इनकार कर दिया। लेकिन गांगुली ने इन आरोपों को झूठ बताया और तीनों को रोकने की कोशिश की।  इसके बाद तीनों प्लेयर्स ने उन्हें वो नकली प्रेस रिलीज सौंप दी।

इस्तीफा देने के लिए तैयार थे गांगुली
इस मजाक में सचिन और द्रविड़ ने भी उनका साथ दिया, लेकिन गांगुली काफी परेशान थे और उन्होंने कहा कि वो मीडिया में ऐसा स्टेटमेंट कैसे दे सकते हैं जबकि ये तीनों तो बेहद सीरियस क्रिकेटर्स हैं। आखिर में गांगुली ने कहा कि उन्होंने ऐसा कोई स्टेटमेंट नहीं दिया है, लेकिन फिर भी अगर सबको ऐसा लगता है तो वो अगले दिन कप्तानी से इस्तीफा देने के लिए तैयार हैं।

क्रिकेट बोर्ड से भी थी शिकायत
जब गांगुली ने इस्तीफा देने की बात कह दी, तो फिर भज्जी और युवराज ने सच बोल दिया। गांगुली, दोनों के पीछे बैट लेकर दौड़ने लगे। इसके बाद गांगुली ने दोनों के इस मजाक की शिकायत क्रिकेट बोर्ड से भी थी। हालांकि हुआ कुछ नहीं था।भज्जी इस शरारत को ड्रेसिंग रूम में उनकी सबसे अच्छी यादों में से एक मानते हैं, जिसे याद करके वे आज भी हंस देते हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You