सिंधू ने कहा, ओलिंपिक के बाद मेरे अंदर आया कुछ बदलाव

  • सिंधू ने कहा, ओलिंपिक के बाद मेरे अंदर आया कुछ बदलाव
You Are HereOther Games
Thursday, November 10, 2016-10:00 AM

नई दिल्ली: रियो खेलों की रजत पदक विजेता पीवी सिंधू ने कहा कि ओलिंपिक में उनके प्रदर्शन ने विफलता से निपटने में उनकी मदद की और उन्होंने अब महसूस कर लिया है कि विश्व चैम्पियनशिप और आल इंग्लैंड जैसी प्रतियोगिताओं में पदक जीतने के लिए उन्हें कड़ी मेहनत करने की जरूरत है। सिंधू ने कहा कि ओलिंपिक मेरे अंदर कुछ बदलाव लेकर आया। ओलिंपिक में मैं वरीयता प्राप्त खिलाडिय़ों के खिलाफ खेली और महसूस किया कि मेरी तरह वे भी कम रैंकिंग वाले खिलाडिय़ों के खिलाफ हार पर बुरा महसूस करते हैं इसलिए कभी कभी लोग अवसाद में चले जाते हैं लेकिन इसके बाद वे वापसी करते हैं और कड़ी मेहनत करते हैं। इसलिए मुझे लगता है कि इसी तरह ओलिंपिक के बाद काफी कुछ बदल गया है।’’ 

उन्होंने कहा कि खेलों के बाद जीवन काफी बदल गया है और अब जिम्मेदारी हमेशा अधिक होती है और सभी की नजरें हमेशा मेरे उपर रहेंगी इसलिए मुझे लगता है कि अब से मुझे और कड़ी मेहनत करनी होगी। ओलिंपिक पदक पदक जीतने वाली पहली भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी सिंधू ने कहा कि मुझे लगता है कि यह सिर्फ शुरूआत है और ओलिंपिक पदक के साथ यह खत्म नहीं हुआ है। सुपर सीरीज और आल इंगलैंड और विश्व चैम्पियनशिप जैसी कई प्रतियोगिताएं हैं जिन्हें मैं जीतना चाहती हूं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You