धरती का चुंबकीय क्षेत्र पहचान कर कुत्ते करते हैं नित्य कर्म

  • धरती का चुंबकीय क्षेत्र पहचान कर कुत्ते करते हैं नित्य कर्म
You Are HereInternational
Sunday, January 12, 2014-5:12 PM

लंदन: अभी तक सिर्फ वफादारी, आगामी संकट को भांपने की क्षमता और अनोखी घ्राणशक्ति के लिए कुत्तों को जाना जाता था, लेकिन एक नए शोध से खुलासा हुआ है कि कुत्ते एक मैगनेटिक कम्पास की तरह काम करते हैं और वे धरती के उत्तरी और दक्षिणी चुंबकीय क्षेत्र को ध्यान में रखकर ही नित्यक्रम से निवृत्त होते हैं।

एक शोध पत्रिका में प्रकाशित शोध के मुताबिक, शोधकर्ताओं ने दो साल तक जर्मनी और चेक गणराज्य के 70 कुत्तों का अध्ययन करके यह निष्कर्ष निकाला कि कुत्ते धरती के चुंबकीय आकर्षण के प्रति संवेदनशील (मैग्नेटोसेंसेटिव) होते हैं। शोध के दौरान यह पाया गया कि नित्यक र्म से निवृत होने से पहले कुत्ते धरती के चुंबकीय क्षेत्र को ध्यान में रखते हैं। दक्षिणी चुंबकीय क्षेत्र में लगातार हो रहे बदलाव के दौरान वे इसका ध्यान नहीं रखते और तब उत्तरी तथा दक्षिण अक्ष के प्रति उन्हें कोई आकर्षण नहीं रहता है। कुत्ते पूर्वी पश्चिमी अक्ष को आमतौर पर नजरअंदाज करते हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You