अब सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों की खैर नहीं!

  • अब सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों की खैर नहीं!
You Are HereInternational
Wednesday, February 26, 2014-5:23 PM

ह्यूस्टन: सोशल मीडिया पर अफवाहों के बीच असल खबर का पता लगाने के लिए यूरोपीय विशेषज्ञों की एक टीम एक सॉफ्टवेयर पर काम कर रही है। इससे अफवाहों के छा जाने से पहले ही इसकी पहचान हो पाएगी। यह कार्यभार फेमे नामक सॉफ्टवेयर करेगा। इसके जरिए अफवाहों की पड़ताल की जा सकेगी।
   
शेफिल्ड विश्वविद्यालय में टेक्सट माइनिंग की एक विशेषज्ञ, वरिष्ठ शोधकर्ता कलिना बोन्तचेवा ने बताया कि खबरों के स्रोत, ट्वीट और यहां तक की ट्वीट की भाषा आदि पर झूठी सूचनाओं को पकडऩे में यह सक्षम होगा। पौराणिक यूनानी देवी के नाम पर इसका नाम रखा गया है। अध्ययनकर्ताओं को उम्मीद है कि यह सॉफ्टवेयर सनसनीखेज भाषाओं अथवा तीक्ष्ण आवेगों की पहचान करने के काबिल होगा। अकाउंट के अतीत अथवा पृष्ठभूमि पर भी यह गौर फरमाएगा जिससे पता चल सके कि क्या सिर्फ अफवाह फैलाने के लिए इसे बनाया गया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You