42 लाख लूटने वाले 5 टप्पेबाज गिरफ्तार, जानिए कैसे चढ़े पुलिस के हत्थे

  • 42 लाख लूटने वाले 5 टप्पेबाज गिरफ्तार, जानिए कैसे चढ़े पुलिस के हत्थे
You Are HereUttrakhand
Monday, July 31, 2017-9:36 AM

हरिद्वार: आई.सी.आई.सी.आई. बैंक के ए.टी.एम. में पैसे डालने के दौरान 42 लाख रुपए से भरा बैग लेकर चम्पत हुए टप्पेबाजों के गिरोह के 5 सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। 42 लाख की रकम व गिरोह का सरगना व एक अन्य टप्पेबाज अभी पुलिस के हाथ नहीं लग पाए हैं। पुलिस का दावा है कि चोरी की गई रकम फरार चल रहे गिरोह के सरगना व उसके साथियों के पास है, जिन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

फरार आरोपियों की तलाश में एक पुलिस टीम तमिलनाडु में डेरा डाले हुए है। बीती जुलाई को चंद्राचार्य चौक के समीप आई.सी.आई.सी.आई. बैक के ए.टी.एम. में पैसे डाल रहे कर्मचारी को रुपए गिरे होने का झांसा देकर टप्पेबाज 42 लाख रुपयों से भरा एक बैग लेकर चम्पत हो गए थे। 

एस.पी. सिटी ममता वोरा ने बताया कि घटना स्थल के आसपास के सी.सी.टी.वी. फुटेज में कैद हुई गतिविधियों के आधार पर घटना में प्रथम दृष्टया दक्षिण भारतीय गैंग की संलिप्तता सामने आई थी। इसके बाद घटना के खुलासे के लिए गठित की गई पुलिस टीम ने कॉल का डाटा उठाया व आसपास के होटलों को चैक किया तो पता चला कि नगर कोतवाली के अंतर्गत नटराज गैस्ट हाऊस में कुछ दक्षिण भारतीय ठहरे थे, जोकि गैस्ट हाऊस में आए तथा कांवडिय़ों की ड्रैस पहनकर ट्रेन में बैठकर चले गए।

बाद में उनकी लोकेशन शिरडी में ट्रेस हुई। इसके बाद पुलिस ने शिरडी पहुंचकर अहमदनगर से 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। गिरोह का सरगना वी. मोथी पुत्र बाला सुब्रह्मण्यम निवासी शेख मोईनुद्दीन कालोनी रामजीनगर जिला त्रिचना पल्ली तमिलनाडु व अधिथन पुत्र तेंदा यूथावानी निवासी मलई पट्टी थाना रामजीनगर जिला त्रिचना पल्ली तमिलनाडु पुलिस के हाथ नहीं लग सके।

गिरफ्तार हुए आरोपियों ने बताया कि लूटी गई रकम फरार चल रहे उनके दोनों साथियों के पास है, जिनकी गिरफ्तारी व रकम की बरामदगी के लिए एक पुलिस टीम को तमिलनाडु भेजा गया है। जल्द ही दोनों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। 
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You