15 सितंबर तक कभी भी घर लाएं ये वस्तुएं, ज्ञान और धन की कभी कमी नहीं रहेगी

  • 15 सितंबर तक कभी भी घर लाएं ये वस्तुएं, ज्ञान और धन की कभी कमी नहीं रहेगी
You Are HereVastu Shastra
Tuesday, September 06, 2016-11:09 AM

कल से गणेश चतुर्थी का शुभारंभ हो गया है। गणेशोत्सव दस दिन तक चलेगा। वैसे तो किसी भी कार्य को आरंभ करने से पहले गणेश पूजन किया जाता है, ताकि कार्य बिना किसी विध्न के परवान चढ़ सके। ये दस दिन गणपति बप्पा को अत्यधिक प्रिय हैं। अत: उनका आशीर्वाद पाने के लिए ये उत्तम समय है। 

वास्तुशास्त्रियों के अनुसार कुछ खास वस्तुएं हैं, जिनका संबंध भगवान गणेश से माना जाता है। आज से लेकर आने वाले 10 दिन के भीतर यदि इन वस्तुओं में से कोई भी एक वस्तु घर लेकर आएंगे, तो गणेश जी के साथ-साथ महालक्ष्मी भी प्रसन्न होकर आप पर ज्ञान और धन की कृपा बरसाएंगे।    

* गणेश जी की नृत्य करती प्रतिमा घर में रखना बहुत शुभ होता है। मुख्यद्वार पर कभी भी बिना सोच-विचार किए गणेश प्रतिमा न लगाएं। जिन घरों का द्वार दक्षिण या उत्तरमुखी हो वहींं पर गणेश जी लगाएं। 

* जिस घर में बांसुरी रखी होती है वहां प्रेम और धन की कोई कमी नहीं रहती है। सामान्यत: घर में बांस की बांसुरी  रखनी चाहिए। वास्तु के अनुसार इस बांसुरी से घर के वातावरण में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।  

चांदी की सात बांसुरियां लेकर लाल रंग के चमकीले कपड़े में बांधकर पोटली बना लें। उस पोटली को साक्षात मां लक्ष्मी का स्वरूप मान उसका पूजन करें तत्पश्चात श्री सूक्त का पाठ करें। फिर पोटली को उठाकर तिजोरी में रख दें। 

* शंख जिसके घर में रहता है वहां सब मंगल ही मंगल होते हैं। लक्ष्मी स्वयं स्थिर होकर  निवास करती है। जिस घर में उत्तम दक्षिणावर्ती शंख की पूजा होती है वह कृष्ण के समान सौभाग्यशाली तथा धनपति बन जाता है। जिस परिवार में शास्त्रोक्त उपायों द्वारा इसकी स्थापना की जाती है वहां भूत, प्रेत, पिशाच, ब्रह्म-राक्षस आदि द्वारा पहुंचाए जा रहे दुर्भक्षों का स्वत: ही समाधान होने लगता है। 

* महालक्ष्मी के साथ ही धन के देवता कुबेर देव को पूजने से पैसों से जुड़ी समस्याएं दूर हो जाती हैं। इसी वजह से किसी भी देवी-देवता के पूजन के साथ ही इनका भी पूजन करना बहुत लाभदायक होता है। यदि अपने कर्तव्यों का निष्ठा से पालन करते हुए श्री कुबेर की उपासना की जाए और कुबेर यंत्र पूजा घर में स्थापित किया जाए तो वे निश्चित प्रसन्न होकर व्यापार वृद्धि, धन वृद्धि, ऐश्वर्य, लक्ष्मी कृपा प्रदान कर घर में सुख-समृद्धि एवं सौभाग्य का आशीर्वाद देते हैं। 

* जिस घर में एकाक्षी नारियल की पूजा होती है, वहां लक्ष्मी जी की कृपा होती है, अन्न व धन की कभी कमी नहीं आती।  

ध्यान रखें

वैसे तो प्रतिदिन घर के मुख्य द्वार पर स्वस्तिक, ॐ, शुभ-लाभ जैसे मांगलिक चिह्न बनाना शुभ होता है। संभव न हो तो 15 सितंबर तक और प्रत्येक बुधवार ये चित्र जरूर बनाएं। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You