घर के Main Gate को बनाएं खुशियों का द्वार, अपनाएं वास्तु टिप्स

  • घर के Main Gate को बनाएं खुशियों का द्वार, अपनाएं वास्तु टिप्स
You Are HereVastu Shastra
Saturday, September 10, 2016-2:48 PM

किसी भी कुशल वास्तु विशेषज्ञ के मार्गदर्शन में इन उपायों को अपना कर प्रवेश द्वार को खुशियों का द्वार बनाया जा सकता है।

 

 * द्वार के ठीक सामने एक आदमकद दर्पण इस प्रकार लगाएं जिससे घर में प्रवेश करने वाले व्यक्ति का पूरा प्रतिबिंब दर्पण में बने। इससे घर में प्रवेश करने वाले व्यक्ति के साथ घर में प्रवेश करने वाली नकारात्मक ऊर्जा पलटकर वापस चली जाती है। द्वार के ठीक सामने आशीर्वाद मुद्रा में हनुमान जी की मूर्त अथवा तस्वीरें लगाने से भी दक्षिण दिशा की ओर मुख्य द्वार का वास्तुदोष दूर होता है। मुख्य द्वार के ऊपर पंचधातु का पिरामिड लगवाने से भी वास्तुदोष समाप्त होता।

 

 * मुख्य द्वार में वास्तु दोष होने पर घर के द्वार पर घंटियों की झालर लगाएं, जिससे घर में नकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश नहीं होगा।

 

 * घर में तुलसी का पौधा लगाएं और संध्याकाल में नित्य उसके सामने घी के दीपक जलाएं तो समस्त वास्तु दोषों का नाश होता है।

 

 * घर के आसपास हरी दूब उगाई गई हो, तो प्रतिदिन गणेश जी की प्रतिमा पर थोड़ी हरी दूब चढ़ाने से वास्तु दोष दूर होता है।

 

 * सुख शांति के लिए घर के उत्तरी भाग में धातु से बने कछुए की प्रतिमा रखें, इससे घर में नकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह कम होता है।

 

 * मुख्य द्वार पर क्रिस्टल बॉल लटकाएं और लाल रंग का फीता बांधें। 

 

 * यदि घर का द्वार खोलते ही सामने सीढ़ी हो, तो सीढ़ी पर पर्दा लगा दें।

 

* मुख्य प्रवेश द्वार के बाहर अपने सामर्थ्यनुसार रंगोली बनाना या बनवाना शुभ होता है जो मां लक्ष्मी को आकृष्ट करता है व नकारात्मक ऊर्जाओं का प्रवेश रोकता है। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You