घर में लगाएं ऐसे दर्पण, मिलेगी आर्थिक परेशानी से मुक्ति

  • घर में लगाएं ऐसे दर्पण, मिलेगी आर्थिक परेशानी से मुक्ति
You Are HereVastu Shastra
Sunday, October 23, 2016-11:32 AM

आईना व्यक्ति के जीवन का एक अहम ह‌िस्सा है। लोग आईने में खुद को निहारते हैं अौर खुद को संवारते हैं। आईने का वास्तु की दृष्टि में भी महत्व है। वास्तु वैज्ञान‌िक वास्तुदोष दूर करने के लिए आईने का प्रयोग करते आए हैं। आईने से जहां वास्तुदोष दूर किया जा सकता है वैसे ही इसके गलत प्रयोग से वास्तु दोष भी पैदा होता है। जिसके कारण धन और स्वास्‍थ्‍य की हानि होती है। 

 

* आइने को खरीदते करते समय इस बात का ध्यान रखें कि इसमें चेहरा साफ, स्पष्ट अौर वास्तविक दिखाई दे। धुंधला अौर व‌िकृत चेहरा दिखाने वाले आइना बुरा प्रभाव डालता है। इससे रोगों में भी वृद्धि होती है। 

 

* घर के उत्तर और पूर्वी दीवार में दर्पण लगाने से उन्नति अौर धन लाभ की प्राप्ति होती है। वास्तु के अनुसार इस दिशा में दर्पण लगाने से व्यापार में घाटे अौर आर्थिक नुक्सान से मुक्ति मिलती है अौर धन वृद्धि में सहायक होता हैं। 

 

* वास्तु विज्ञान के अनुसार आइने का हल्का अौर बड़ा होना बहुत लाभदायक होता है।

 

* शयन कक्ष में दरवाजे के सामने दर्पण लगाना शुभ होता है। लेकिन भूल कर भी मुख्य द्वार के सामने दर्पण न  लगाएं, इससे हानि होती है। वास्तु विज्ञान के अनुसार मुख्यद्वार के सामने दर्पण लगाने से सकारात्मक ऊर्जा टकराकर वापिस लौट जाती है। 

 

* डाइन‌िंग टेबल के सामने आईना लगाना शुभ होता है परंतु दर्पण इस प्रकार लगाएं कि उसमें डाइन‌िंग टेबल पूरी तरह दिखाई दें। इससे घर में सुख-समृद्धि आती है। 

 

* शयन कक्ष में भूल कर भी दर्पण न लगाएं। वास्तु के अनुसार शयन कक्ष में आईना लगाने से दांपत्य जीवन में विश्वास की कमी आती है। इसके साथ ही पति-पत्नी में आपसी मतभेद भी बढ़ता है। 
 
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You