घरों की मांग में सुधार से 2021-22 में एनारॉक की आय 32% बढ़कर 402 करोड़ रुपए पर

Edited By jyoti choudhary, Updated: 05 Jun, 2022 02:41 PM

anarock s income rises 32 to rs 402 crore in 2021 22 on improving

संपत्ति सलाहकार एनारॉक की बीते वित्त वर्ष 2021-22 की आमदनी 32 प्रतिशत बढ़कर 402 करोड़ रुपए पर पहुंच गई। एनारॉक के चेयरमैन अनुज पुरी ने यह जानकारी देते हुए कहा कि बीते वर्ष कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के बाद घरों की मांग में तेजी से

नई दिल्लीः संपत्ति सलाहकार एनारॉक की बीते वित्त वर्ष 2021-22 की आमदनी 32 प्रतिशत बढ़कर 402 करोड़ रुपए पर पहुंच गई। एनारॉक के चेयरमैन अनुज पुरी ने यह जानकारी देते हुए कहा कि बीते वर्ष कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के बाद घरों की मांग में तेजी से कंपनी की आय बढ़ी है। एनारॉक को अनुज पुरी ने अप्रैल, 2017 में स्थापित किया था। यह भारत में अग्रणी आवास ब्रोकरेज कंपनियों में से एक है। इसकी स्थापना से पहले पुरी ने एक वैश्विक संपत्ति सलाहकार कंपनी में चेयरमैन और भारत के प्रमुख के रूप में 10 साल तक काम किया था। 

पुरी ने कहा कि कंपनी ने महामारी के बावजूद राजस्व में मजबूत वृद्धि हासिल की है। उन्होंने कहा, “पिछले वित्त वर्ष के दौरान हमारा राजस्व बढ़कर 402 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान यह आंकड़ा 305 करोड़ रुपए रहा था।” पुरी ने कहा कि रियल एस्टेट क्षेत्र में मजबूती होने से कंपनी को फायदा हुआ है। उन्होंने कहा, ‘‘रियल एस्टेट ग्राहकों का भरोसा तेजी से लौट रहा है। हमें अपने ग्राहकों, लोगों, शेयरधारकों के वापस लौटने से यह निश्चित लक्ष्य प्राप्त हुआ है।'' 

पुरी ने कहा कि पिछले पांच-सात साल के दौरान स्थिर आवास कीमतों, सस्ते आवास ऋण की वजह से घर खरीदना आसान हुआ है। उन्होंने कहा, ‘‘महामारी से संबंधित प्रतिबंध के चलते ज्यादातर लोगों के घर से काम करने और पढ़ाई करने से बड़े घरों की मांग बढ़ी है। उन्होंने कहा कि कार्यालय और खुदरा स्थलों के लिए भी मांग में सुधार हुआ है।

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!