टाटा मोटर्स को उम्मीद- इस वित्त वर्ष कमर्शियल व्हीकल की मांग रहेगी शानदार

Edited By jyoti choudhary, Updated: 08 May, 2022 02:01 PM

commercial vehicle industry will again run at high speed in the current

वाणिज्यिक वाहन उद्योग की वृद्धि दर चालू वित्त वर्ष में दो अंकीय यानी 10 प्रतिशत से अधिक रहने की उम्मीद है। टाटा मोटर्स के कार्यकारी निदेशक गिरीश वाघ ने यह उम्मीद जताई है। वाघ का कहना है कि अनुकूल मांग परिस्थितियों और आर्थिक गतिविधियों में तेजी से इस...

नई दिल्लीः वाणिज्यिक वाहन उद्योग की वृद्धि दर चालू वित्त वर्ष में दो अंकीय यानी 10 प्रतिशत से अधिक रहने की उम्मीद है। टाटा मोटर्स के कार्यकारी निदेशक गिरीश वाघ ने यह उम्मीद जताई है। वाघ का कहना है कि अनुकूल मांग परिस्थितियों और आर्थिक गतिविधियों में तेजी से इस साल वाणिज्यिक वाहन उद्योग तेजी से आगे बढ़ेगा। हालांकि, इसके साथ ही उन्होंने कहा कहा कि ईंधन के ऊंचे दाम और वाहन ऋण महंगा होने से इस उद्योग के रास्ते में अड़चनें आ सकती हैं। वित्त वर्ष 2018-19 में वाणिज्यिक वाहन उद्योग ने अपना अच्छा समय देखा था। उस समय ऐसे वाहनों की बिक्री का आंकड़ा 10 लाख इकाई को पार कर गया था। हालांकि, उसके बाद के दो वित्त वर्षों में इस उद्योग में गिरावट आई थी लेकिन पिछले वित्त वर्ष में इसने फिर रफ्तार पकड़ी है। 

वाघ ने कहा, ‘‘हालांकि, बिक्री की मात्रा के लिहाज से उच्चतम स्तर पर पहुंचने में अभी समय लगेगा, लेकिन पेलोड (भार ढोने की क्षमता) के मामले में उद्योग पिछले शीर्ष स्तर पर जल्द पहुंच सकता है, क्योंकि अधिक भार क्षमता वाले वाणिज्यिक वाहनों की मांग बढ़ रही है।'' वाघ ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि पिछले साल अर्थव्यवस्था ने फिर से अच्छा प्रदर्शन किया है और वाणिज्यिक वाहन बाजार में लगभग 26 प्रतिशत की वृद्धि देखने को मिली है। टाटा मोटर्स में हमने 33 प्रतिशत की वृद्धि हासिल की है।'' 

पिछले तीन वर्षों के संदर्भ में उन्होंने कहा, ‘‘वित्त वर्ष 2018-19 हमारा पिछला सबसे अच्छा स्तर था। उस समय वाणिज्यिक वाहन उद्योग ने 10 लाख इकाइयों की बिक्री के आंकड़े को पार किया था। उसके बाद इसमें गिरावट आई। 2019-20 देश में भारत चरण-छह (बीएस-छह) की ओर स्थानांतरण के लिए तैयारियों का साल था। वहीं 2020-21 कोविड महामारी से प्रभावित वर्ष था। इन दोनों वर्षों में बाजार में गिरावट आई और 2020-21 में वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री 2018-19 का मात्र 52 प्रतिशत थी।'' 

वाणिज्यिक वाहन उद्योग में कुल स्थिति पर उन्होंने कहा, "हम उद्योग की स्थिति में सुधार देख रहे हैं। हालांकि, मात्रा के लिहाज से पिछले उच्चस्तर पर पहुंचने में कुछ समय लगेगा लेकिन पेलोड के मामले में हम पिछले शीर्षस्तर पर जल्द पहुंच जाएंगे। इसकी वजह यह है कि आज 2018-19 की तुलना में अधिक भार क्षमता वाले वाहन बिक रहे हैं।'' उन्होंने कहा कि सरकार ने बजट में बुनियादी ढांचा क्षेत्र पर खर्च बढ़ाया है। बुनियादी ढांचा क्षेत्र में हो रहे काम की वजह से आज वाणिज्यिक वाहनों की मांग बढ़ी है। वाणिज्यिक वाहन क्षेत्र की वृद्धि के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि इस साल यह क्षेत्र दो अंकीय बढ़ोतरी दर्ज करेगा। 

Related Story

Trending Topics

Indian Premier League
Mumbai Indians

Sunrisers Hyderabad

Match will be start at 17 May,2022 07:30 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!