मंदी की गिरफ्त में अमेरिकी बाजार, यूरोपीय बाजार में भी भारी गिरावट

Edited By Pardeep, Updated: 13 Jun, 2022 09:44 PM

in the wake of the recession the u s market

अमरीकी बाजारों में पिछले हफ्ते से चल रहा गिरावट का सिलसिला सोमवार को भी जारी रहा और सोमवार शाम अमरीका के शेयर बाजार में भारी गिरावट देखी गई। डाओजोन्स इंडस्ट्रियल एवरेज इंडैक्स 890 अंक तक लुढ़क गया और इसमें करीब

बिजनेस डेस्क : अमेरिकी बाजारों में पिछले हफ्ते से चल रहा गिरावट का सिलसिला सोमवार को भी जारी रहा और सोमवार शाम अमेरिका के शेयर बाजार में भारी गिरावट देखी गई। डाओजोन्स इंडस्ट्रियल एवरेज इंडैक्स 890 अंक तक लुढ़क गया और इसमें करीब 2.8 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई, जबकि एस एंड पी 500 में 3.8 प्रतिशत और नैस्डैक कम्पोजिट में 4.5 प्रतिशत की गिरावट देखी गई। एस.एंडपी. 500 ने इंट्रा डे ने मार्च 2021 के बाद का निचला स्तर बनाया है और यह अपने उच्चतम स्तर से 22 फीसदी की गिरावट के साथ कारोबार कर रहा है। 

सामान्य तौर पर यदि कोई इंडैक्स अपने उच्चतम स्तर से 20 फीसदी से नीचे कारोबार करना शुरू करे तो उसे मंदी की शुरूआत माना जाता है। हालांकि तीन हफ्ते पहले भी एस.एंड पी. ने इसी तरह की मंदी का संकेत दिया था और ये इंडैक्स अपने उच्चतम स्तर से 20 फीसदी लुढ़कने के बाद इंट्रा डे में ही संभल गया था। यदि एस एंड पी इंडैक्स 20 फीसदी से नीचे बंद होता है तो इसे मंदी की शुरूआत कह सकते हैं। सोमवार के कारोबार के दौरान न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज के करीब सारे सैक्टर में गिरावट देखी गई और कई कंपनियों के शेयर 8 फीसदी तक लुढ़क गए। 

इस बीच नैस्डैक ने 52 हफ्ते का अपना निचला स्तर तोड़ दिया और नवंबर 2020 के बाद यह अब तक के निचले स्तर पर कारोबार कर रहा है। बाजार में गिरावट के बीच 2 साल के बौंड का प्रतिफल (यील्ड) 17 बेसिस प्वाइंट बढ़कर 3.22 प्रतिशत तक पहुंच गई है और यह बौंड यील्ड का 2007 के बाद का उच्चतम स्तर है। निवेशक बौंड बाजार में आकर्षक रिटर्न होने के कारण पैसा शेयर बाजार से निकाल कर यहां निवेश कर रहे हैं, जिस कारण इक्विटी बाजार में दबाव देखा जा रहा है। 

यूरोपीय बाजारों में भी भारी गिरावट
समाचार लिखे जाने तक यूरोप के बाजारों में भी भारी गिरावट देखी गई और यूरोप के शेयर बाजार करीब अढ़ाई फीसदी की गिरावट के साथ बंद हुए। जर्मन के स्टाक एक्सचेंज के इंडेक्स डैक्स में 2.43 फीसदी की गिरावट देखी गई और ये 334.8 अंक लुढ़कर 13427.03 पर बंद हुआ, जबकि लंदन स्टॉक एक्सचेंज के इंडैक्स एफ.टी.एस.ई. में 1.53 प्रतिशत की गिरावट देखी गई और यह 111.71 अंक लुढ़कर 7205.81 पर बंद हुआ। इसी तरह फ्रांस में स्टाक एक्सचेंज के इंडैक्स सी.ए.सी. में भी 2.67 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई और यह 164.9 अंक लुढक कर 6022.32 पर बंद हुआ।

बिटक्वाइन 17 प्रतिशत लुढ़का, भाव 23 हजार डालर से नीचे
शेयर बाजार में चल रहे भारी उठा पटक के बीच सबसे बड़ी मार क्रिप्टो करंसी पर पड़ी है। सोमवार रात साढ़े 9 बजे बिटक्वाइन के भाव 23000 डालर प्रति बिटक्वाइन से नीचे लुढ़क गए और यह 22812 डालर प्रति बिटक्वाइन तक पहुंच गया। बिटक्वाइन का यह दिसंबर 2020 के बाद का सबसे निचला स्तर है। बिटक्वाइन में 16 प्रतिशत से ज्यादा की गिरावट देखी गई, जबकि इथीरियम में भी करीब 18 फीसदी की गिरावट देखी गई और इसके भाव 1186 डालर प्रति इथीरियम तक पहुंच गए। एक्स.आर.पी. भी 12 फीसदी गिर गया और इसके भाव 0.30 डालर प्रति क्वाइन पर पहुंच गए।

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!