अमेरिका में महंगाई ने तोड़ा 40 सालों का रिकॉर्ड, 1982 के बाद पहली बार 8.6% पहुंचा इंफ्लेशन रेट

Edited By jyoti choudhary, Updated: 11 Jun, 2022 10:27 AM

inflation broke 40 years  record in america inflation rate reached 8 6 for

अमेरिका में महंगाई मई महीने में चार दशकों के अपने सबसे ऊंचे स्तर 8.6 प्रतिशत पर पहुंच गई है। इसके पीछे मुख्य कारण गैस, खानपान और अन्य जरूरी वस्तुओं की कीमतों में बढ़ोतरी है। अमेरिका के लेबर डिपार्टमेंट ने शुक्रवार को मई 2022 के महंगाई से जुड़े...

बिजनेस डेस्कः अमेरिका में महंगाई मई महीने में चार दशकों के अपने सबसे ऊंचे स्तर 8.6 प्रतिशत पर पहुंच गई है। इसके पीछे मुख्य कारण गैस, खानपान और अन्य जरूरी वस्तुओं की कीमतों में बढ़ोतरी है। अमेरिका के लेबर डिपार्टमेंट ने शुक्रवार को मई 2022 के महंगाई से जुड़े आंकड़े जारी किए।

डिपार्टमेंट ने बताया कि पिछले महीने कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स एक साल पहले की तुलना में 8.6 प्रतिशत बढ़ गया है। एक महीने पहले अप्रैल में उपभोक्ता कीमतें एक साल पहले के इसी महीने की तुलना में 8.3 प्रतिशत बढ़ी थीं। वहीं मासिक आधार पर देखें तो, मई में कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स में अप्रैल की तुलना में 1 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। यह बढ़ोतरी मार्च की तुलना में अप्रैल में हुई 0.3 फीसदी की बढ़ोतरी की तुलना में काफी ज्यादा है।

अमेरिका पिछले कुछ महीनों से लगातार महंगाई की ऊंची स्थिति से जूझ रहा है। खानपान एवं अन्य जरूरी वस्तुओं की कीमतें बढ़ने से एक अमेरिकी परिवार के लिए जीवन-यापन करना काफी मुश्किल हो गया है। इसकी सबसे ज्यादा मार अश्वेत समुदाय और निम्न-आय वर्ग के लोगों को झेलनी पड़ रही है।

मार्च 2022 में कंज्यूमर प्राइस आधारित महंगाई 1982 के बाद पहली बार 8.5 फीसदी पर पहुंची थी। इस बढ़ी हुई महंगाई ने अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व को भी ब्याज दर में बढ़ोतरी के लिए मजबूर किया है।हालांकि कुछ विश्लेषकों ने ऐसी संभावना जताई है कि आने वाले कुछ महीनों में अमेरिका में महंगाई की तेजी पर लगाम लगेगी लेकिन इसके बावजूद महंगाईति के साल के अंत में 7 फीसदी से नीचे आने की संभावना कम ही है।

आंकड़े जारी होने के बाद अमेरिकी शेयर बाजार के प्रमुख सूचकांक- डाऊ जोंस 880 अंक या 2.73% तक लुढ़क कर 31,393 अंक पर बंद हुआ। वहीं, एसएंडपी-500 भी करीब 3 फीसदी तक नीचे रहा।

भारत पर असर
यूएस के शेयर बाजारों में गिरावट का असर सोमवार को भारतीय बाजार पर दिख सकता है। आपको बता दें कि शुक्रवार को सेंसेक्स 1,016 अंक यानी 1.84 प्रतिशत की बड़ी गिरावट के साथ 54,303 अंक पर आ गया। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 276.30 अंक यानी 1.68 प्रतिशत टूटकर 16,202 अंक पर बंद हुआ।  
 

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!