चेयरमैन एवं एमडी के पद अलग रखने पर सेबी कंपनियों की भी सुनेः सीतारमण

Edited By jyoti choudhary,Updated: 06 Feb, 2022 12:12 PM

sebi should also listen to companies on keeping the posts

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को कहा कि सूचीबद्ध कंपनियों में चेयरमैन और प्रबंध निदेशक (एमडी) के पदों को अलग रखने की योजना पर बाजार नियामक सेबी को भारतीय कंपनियों का भी पक्ष सुनना चाहिए। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने

नई दिल्लीः वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को कहा कि सूचीबद्ध कंपनियों में चेयरमैन और प्रबंध निदेशक (एमडी) के पदों को अलग रखने की योजना पर बाजार नियामक सेबी को भारतीय कंपनियों का भी पक्ष सुनना चाहिए। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने सूचीबद्ध कंपनियों से चेयरमैन और एमडी की भूमिकाएं अलग रखने के लिए अप्रैल 2022 तक की समयसीमा दी है। पहले यह व्यवस्था अप्रैल 2020 से ही लागू की जानी थी लेकिन बाद में इसकी समयसीमा बढ़ा दी गई।

बैंकिंग क्षेत्र के नियामक भारतीय रिजर्व बैंक ने बैंकों के मामले में इस मानक को कुछ साल पहले ही लागू कर दिया था। चेयरमैन और एमडी के पदों को अलग रखने के मसले पर सीतारमण ने कहा, "मैंने इसकी सेबी के साथ समीक्षा की थी। कुछ कंपनियों ने इसका पालन भी किया है। दुनिया भर में इसे अपनाया जाता है। लेकिन मैं इससे भी सहमत हूं कि भारत में कंपनियां काफी हद तक पारिवारिक स्तर पर विकसित होती हैं और निदेशकमंडल में कई संबंधित लोग शामिल होते हैं।" उन्होंने कहा, "ऐसी स्थिति में मेरा मत है कि अगर भारतीय कंपनियों की कोई राय है तो सेबी को उसके बारे में भी जरूर ध्यान देना चाहिए। हालांकि मैं सेबी को कोई आदेश नहीं दे रही।"  

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!