कर राजस्व संग्रह 2022-23 में बजट अनुमान से बेहतर रहने की उम्मीद: राजस्व सचिव

Edited By jyoti choudhary, Updated: 10 Jun, 2022 01:15 PM

tax revenue collection expected to be better than budget estimates

राजस्व सचिव तरुण बजाज ने बृहस्पतिवार को कहा कि चालू वित्त वर्ष में कर राजस्व संग्रह बजट अनुमान से कहीं बेहतर रहने की उम्मीद है। पिछले वित्त वर्ष 2021-22 में अप्रत्यक्ष कर संग्रह 20 प्रतिशत और प्रत्यक्ष कर संग्रह 49 प्रतिशत बढ़ा था। वहीं कर-जीडीपी...

मुंबईः राजस्व सचिव तरुण बजाज ने बृहस्पतिवार को कहा कि चालू वित्त वर्ष में कर राजस्व संग्रह बजट अनुमान से कहीं बेहतर रहने की उम्मीद है। पिछले वित्त वर्ष 2021-22 में अप्रत्यक्ष कर संग्रह 20 प्रतिशत और प्रत्यक्ष कर संग्रह 49 प्रतिशत बढ़ा था। वहीं कर-जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) अनुपात बढ़कर 11.7 प्रतिशत पहुंच गया। यह 1999 के बाद सर्वाधिक है। वित्त वर्ष 2020-21 में कर-जीडीपी अनुपात 10.3 प्रतिशत था। देश का कर संग्रह पिछले साल बढ़कर रिकॉर्ड 27.07 लाख करोड़ रुपए पहुंच गया। जबकि बजट अनुमान 22.17 लाख करोड़ रुपए था। उन्होंने कहा कि सरकार 2021-22 के अनुमान के मुकाबले पांच लाख करोड़ रुपए अधिक कर राजस्व प्राप्त करने में सफल रही।

बजाज ने कहा, ‘‘हम अभी नये वित्त वर्ष की शुरुआत में है। यह जून का महीना है। मुझे राजस्व के मामले में स्थिति जानने के लिये एक और महीना चाहिए।'' उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन इस समय जो भी संकेत हैं, मैं उसको लेकर काफी आशान्वित हूं। और मुझे लगता है कि इस साल भी कर राजस्व के मामले में स्थिति बजट अनुमान से बेहतर होगी...।'' ‘आजादी का अमृत महोत्सव' के विशेष साप्ताहिक समारोह में बजाज ने कहा कि अप्रत्यक्ष कर के संदर्भ में सीमा शुल्क और उत्पाद शुल्क के मामले में कुछ छूट दी गई हैं, लेकिन इसके बावजूद स्थिति अच्छी रहने का अनुमान है। 

केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क (सीबीआईसी) बोर्ड द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि माल एवं सेवा कर (जीएसटी) के मामले में अच्छी वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा,‘‘मुझे उम्मीद है कि जीएसटी के मामले में चालू वर्ष में औसत राजस्व 1.40 से 1.50 लाख करोड़ रुपए रहेगा।''  

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!