इन दो सरकारी बैंकों ने ग्राहकों को दिया झटका, ब्याज दरों में किया 20 बेसिस प्वाइंट का इजाफा

Edited By jyoti choudhary, Updated: 13 Jun, 2022 06:19 PM

these two public sector banks gave a shock to the customers

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) के रेपो दरों में इजाफा करने के बाद कई बैंक ने ब्याज दरों में बढ़ोतरी करते हुए कर्ज महंगा कर दिया। अब इस सूची में दो और बड़े बैंकों का नाम जुड़ गया है। बैंक ऑफ बड़ौदा और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने मार्जिनल कॉस्ट लेंडिंग...

बिजनेस डेस्कः रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) के रेपो दरों में इजाफा करने के बाद कई बैंक ने ब्याज दरों में बढ़ोतरी करते हुए कर्ज महंगा कर दिया। अब इस सूची में दो और बड़े बैंकों का नाम जुड़ गया है। बैंक ऑफ बड़ौदा और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने मार्जिनल कॉस्ट लेंडिंग रेट में 10 से 20 बेसिस प्वाइंट की वृद्धि की है यानी इन बैंक से कर्ज लेना अब महंगा होगा। 

रिपोर्ट के मुताबिक, बैंक ऑफ बड़ौदा ने एमसीएलआर दर को बढ़ाकर 7.50 फीसदी कर दिया है, ये बढ़ी हुई दरें 12 जून से प्रभावी मानी जाएंगी। जबकि यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने बड़ी बढ़ोतरी करते हुए एक साल के लिए एमसीएलआर दर को बदलकर 7.45 फीसदी कर दिया है। नई दरें 11 जून 2022 से लागू होंगी। इस बदलाव के बाद बैंक ऑफ बड़ौदा ने एक रात की अवधि के लिए एमसीएलआर 6.80 फीसदी, एक महीने के लिए 7.20 फीसदी, तीन महीने के लिए 7.25 फीसदी, छह महीने के लिए 7.35 फीसदी और एक साल के लिए यह दर 7.50 फीसदी कर दिया है। 

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की बात करें तो यहां एक रात की अवधि के लिए एमसीएलआर दर 6.70 फीसदी, एक महीने के लिए 6.85 फीसदी, तीन महीने के लिए 7.10 फीसदी, दो साल और तीन साल की अवधि के लोन पर 7.50 फीसदी कर दी गई है। गौरतलब है कि लेंडिंग रेट बढ़ने से होम लोन, पर्सनल लोन, ऑटो लोन समेत सभी तरह के कर्ज महंगे हो जाएंगे और एलसीएलआर में इजाफे से लोन की ईएमआई में इजाफा हो जाता है। 
 

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!