कंपनियों में पैसे इन्वैस्ट कर दोगुने करने वाले गिरोह के तीन सदस्य काबू

Edited By Ajay Chandigarh, Updated: 25 May, 2022 09:17 PM

all three accused sent on police remand for two days

कंपनियों मेंं पैसे इंवैस्ट कर 66 दिन में दोगुने करने का झांसा देकर उड़ीसा के व्यक्ति से 42 लाख 32 हजार की ठगी करने वाले गिरोह के तीन सदस्य को साइबर सैल की टीम ने गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए आरोपी की पहचान कुरुक्षेत्र निवासी मंजेश कुमार पाल, हिसार...

चंडीगढ़,(सुशील राज): कंपनियों मेंं पैसे इंवैस्ट कर 66 दिन में दोगुने करने का झांसा देकर उड़ीसा के व्यक्ति से 42 लाख 32 हजार की ठगी करने वाले गिरोह के तीन सदस्य को साइबर सैल की टीम ने गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए आरोपी की पहचान कुरुक्षेत्र निवासी मंजेश कुमार पाल, हिसार निवासी नरेंद्र सरवा और कुरुक्षेत्र निवासी हेमंत कुमार के रूप में हुई। साइबर सैल ने पकड़े गए तीनों आरोपियों को जिला अदालत में पेश किया। ठगी हुई नकदी बरामद करने के लिए आरोपियों से पूछताछ करने के लिए पुलिस रिमांड मांगा। अदालत ने तीनों को दो दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया। 

 


उड़ीसा स्थित संभलपुर निवासी सरोज कुमार त्रिपाठी ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि 2021 में उसके पास अलग अलग कंपनियों में पैसे इंवैस्ट करने के लिए ईमेल आई थी। पैसे इंवैस्ट कर 66 दिन में दोगुने और हर रोज तीन प्रतिशत प्रोफिट देने को लेकर फोन और वाट्सअप आने लगे। अखिल खुराना, राजेश जसवाल, संदीप सांगवान, कश्मीरी लाल, अजय मेहरा उसे अलग-अलग समय पर फोन करते और पैसे इंवैस्ट करने के लिए कहते थे। उन्होंने कहा था कि पैसे इंवैस्ट करने पर दोगुने होंगे अगर नहीं होंगे तो उनकी जिम्मेवारी होगी। 

 


पहले सप्ताह प्रोफिट आया और फिर बंद हो गया
सरोज कुमार त्रिपाठी ने बताया कि फोन करने वालों ने बताया था कि उनकी कंपनी सैक्टर-9 स्थित शोरूम नं 149/150 में है। उन्होंने उक्त लोगों के कहने पर अलग-अलग कंपनियों में 42 लाख 32 हजार रुपए इंवैस्ट कर दिए। पैसे इंवैस्ट करने के बाद उसे तीन प्रतिशत एक सप्ताह तक प्रोफिट आया। उसके बाद प्रोफिट आना बंद हो गया। उन्होंने मामले की शिकायत पुलिस को दी। साइबर सैल इंचार्ज हरीओम ने सरोज की शिकायत पर सैक्टर-3 थाना पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज करवाकर आरोपियों को पकडऩे के लिए टीम बनाई। ए.एस.आई. सुभाष चंद्र ने मामले की जांच करते हुए ठगी क ी वारदात को अंजाम देने वाले गिरोह के तीन सदस्य मंजेश कुमार पाल, नरेंद्र सरवा और हेमंत कुमार को गिरफ्तार कर लिया। जांच में सामने आया  था कि मंजेश कुमार के खाते में रुपए ट्रांसफर किए गए थे, जबकि शिकायतकत्र्ता के साथ ठगी करने में नरेंद्र सरवा का मोबाइल फोन इस्तेमाल किया गया। 

Related Story

Trending Topics

India

179/5

20.0

South Africa

131/10

19.1

India win by 48 runs

RR 8.95
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!