‘देश पहले-मैं बाद में’ छात्रों में यह भाव पैदा करे एन.एस.एस.: मनोहर लाल

Edited By Ajay Chandigarh,Updated: 03 Aug, 2022 07:28 PM

nss across the state chief minister called upon the office bearers

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि राष्ट्रीय सेवा योजना (एन.एस.एस.) छात्रों में सामाजिक सेवा के साथ-साथ राष्ट्र प्रेम के भाव भी पैदा करे। छात्रों को ऐसी शिक्षा दी जाए कि वे खुद से पहले देश को आगे रखें और ‘देश पहले- मैं बाद में’ की भावना...

चंडीगढ़,(बंसल): हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि राष्ट्रीय सेवा योजना (एन.एस.एस.) छात्रों में सामाजिक सेवा के साथ-साथ राष्ट्र प्रेम के भाव भी पैदा करे। छात्रों को ऐसी शिक्षा दी जाए कि वे खुद से पहले देश को आगे रखें और ‘देश पहले- मैं बाद में’ की भावना जागृत हो। उन्होंने एन.एस.एस. के पदाधिकारियों का आह्वान करते हुए कहा कि एन.एस.एस. को समाज कल्याण से जुड़ी योजनाओं में अपनी भागीदारी निभाते हुए अपनी भूमिका को और लोकप्रिय बनाना चाहिए। मुख्यमंत्री आज हरियाणा निवास में हरियाणा राज्य उच्च शिक्षा परिषद द्वारा आयोजित एन.एस.एस. पदाधिकारियों की एक दिवसीय कार्यशाला में बोल रहे थे।

 


मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें अंत्योदय के भाव से सेवा करनी चाहिए। पंक्ति में खड़े अंतिम व्यक्ति जिसे जरूरत है, उसकी सेवा के लिए आगे आना चाहिए। ऐसे लोगों की सेवा नि:स्वार्थ भाव से करनी चाहिए। यह सेवा का भाव हर व्यक्ति में जगाने की जरूरत है। इस तरह की भावना हमारे समाज को इकट्ठा करके रखती है। आज हरियाणा सरकार अलग-अलग जन कल्याणकारी योजनाएं चला रही है। अधिकतर योजनाओं को परिवार पहचान पत्र (पी.पी.पी.) से जोड़ दिया गया है। पी.पी.पी. की वैरिफिकेशन के लिए सरकारी अधिकारी, कर्मचारी और स्वयंसेवकों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इसके माध्यम से ऐसे परिवारों को चिन्हित किया गया है, जिनकी आय 1 लाख 80 हजार रुपए से कम है। एन.एस.एस. पदाधिकारियों को ऐसी योजनाएं बनानी चाहिए कि एन.एस.एस. स्वयंसेवक इन पात्र परिवारों से जुड़ें और उनकी समस्याओं को सरकार तक पहुंचाएं, जिससे भविष्य में इन पात्र परिवारों की आय बढ़ाने के लिए योजनाएं बनाई जा सकें। मुख्यमंत्री ने कहा कि एन.एस.एस. को सेवा के साथ-साथ लोगों की जीवनशैली कैसे खुशहाल की जाए, इस पर भी कार्य करना चाहिए।
 

 

15 अगस्त के दिन तिरंगामय होगा प्रदेश, त्यौहार जैसा होगा उत्सव 
मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बार के स्वतंत्रता दिवस पर ‘घर-घर तिरंगा अभियान’ शुरू किया गया है, जो 13 अगस्त से 15 अगस्त तक चलेगा। उन्होंने आह्वान किया कि इस अभियान में एन.एस.एस. के सभी स्वयंसेवक बढ़-चढ़कर हिस्सा लें। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वतंत्रता दिवस के दिन पूरा प्रदेश तिरंगामय होगा। जिस तरह देश में होली और दीपावली का त्यौहार मनाया जाता है, इसी तरह स्वतंत्रता दिवस भी धूमधाम से मनाया जाएगा।    
 

 

15 अगस्त 1947 से पहले पैदा हुए लोगों को भेजा जाएगा स्वतंत्रता दिवस कार्यक्र में शामिल होने का न्यौता 
मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बार के स्वतंत्रता दिवस पर 15 अगस्त 1947 से पहले पैदा हुए लोगों के घर स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम में शामिल होने का न्यौता भेजा जाएगा। इन लोगों की सूची जिला उपायुक्त को भेजी जाएगी और जिला उपायुक्त विशेष तौर पर इन लोगों को स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम में शामिल होने का निमंत्रण भेजेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में इस बार स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रमों की संख्या भी बढ़ाकर 75 की गई है। आजादी का अमृत महोत्सव को समाज का उत्सव बनाया जाएगा। 
 

 

नैशनल इंटीग्रेशन कैंप का नाम हो एक भारत श्रेष्ठ भारत 
मुख्यमंत्री ने एन.एस.एस. के राज्य स्तर पर आयोजित किए जाने वाले नैशनल इंटीग्रेशन कैंप का नाम एक भारत श्रेष्ठ भारत कैंप करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि इस कैंप में एक-एक राज्य से छात्रों को बुलाया जाए, ताकि एक-दूसरे की संस्कृति को जानने का अवसर मिले। मुख्यमंत्री ने एन.एस.एस. में उत्कृष्ट कार्यों के लिए मिलने वाले अवॉर्ड के लिए  मूल्यांकन कमेटी बनाने के भी निर्देश दिए। 
 

 

बीमारियों के साथ-साथ स्वस्थ कैसे रहें, इसके लिए भी फैलाएं जागरूकता 
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि एन.एस.एस., नशा, पर्यावरण, बीमारियों व अन्य सामाजिक विषयों पर जागरूक करने का कार्य करता है। इनके साथ-साथ आज जरूरत यह है कि स्वास्थ्य के लिए भी जागरूकता अभियान चलाना चाहिए। इसे भी एजैंडे में जोडऩा चाहिए, ताकि लोग बीमार पड़ें ही नहीं। उन्होंने कहा कि सेवा सबसे बड़ा धर्म है, यह भाव हर किसी में पैदा होना चाहिए। 
 

 

एन.एस.एस. सिखाता है समाज के प्रति जिम्मेदारी: आनंद मोहन शरण
हरियाणा उच्च शिक्षा विभाग के ए.सी.एस. आनंद मोहन शरण ने कहा कि स्कूल, कालेज और यूनिवॢसटी सभी के छात्रों की समाज के प्रति जिम्मेदारी होती है। एन.एस.एस. द्वारा समय-समय पर इस जिम्मेदारी को निभाया जाता है। एन.एस.एस. हमें सिखाता है कि समाज के प्रति हमारी क्या जिम्मेदारी है। एन.एस.एस. के द्वारा सरकार की जन कल्याणकारी स्कीमों को पात्र तक पहुंचाने का कार्य करना चाहिए, जो समाज के लिए बेहद लाभकारी होगा। 
 

 

घर-घर तिरंगा कार्यक्रम में बढ़-चढ़कर लें हिस्सा: डा. अमित अग्रवाल
मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव डा. अमित अग्रवाल ने कहा कि घर-घर तिरंगा अभियान में प्रदेशवासी बढ़-चढ़कर हिस्सा लें। इस अभियान में एन.एस.एस. के स्वयंसेवक भी अपनी भागीदारी निभाएं। यह एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम है। इस कार्यक्रम के लिए एन.एस.एस. के स्वयंसेवक जागरूकता अभियान चलाएं और 13 अगस्त से 15 अगस्त तक गर्व से घर-घर तिरंगा लहराएं। 
 

 

अध्यापक और विद्यार्थी का कार्य समाज को दिशा देना: बृज किशोर कुठियाला
हरियाणा राज्य उच्च शिक्षा परिषद के अध्यक्ष बृज किशोर कुठियाला ने कहा कि अध्यापक और विद्यार्थी का कार्य समाज को दिशा देने का है। शिक्षक का संवाद उसकी कक्षा के साथ-साथ समाज से भी होता है। एन.एस.एस. द्वारा समय-समय पर समाज को जागरूक करने और सेवा के अनेक कार्य किए जाते हैं। इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव वी. उमाशंकर, हरियाणा राज्य उच्च शिक्षा परिषद के उपाध्यक्ष कैलाश चंद्र शर्मा व अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे। 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!