हरियाणा की कई योजनाओं का अनुसरण कर रहे दूसरे राज्य : मनोहर लाल

Edited By Ajay Chandigarh,Updated: 22 May, 2022 08:50 PM

people taking advantage of haryana government schemes

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि आज हरियाणा बाकी सब प्रदेशों से आगे निकला है वो टैक्नोलॉजी के माध्यम से ही संभव हो पाया है। हमने टैक्नोलॉजी के माध्यम से एक सिस्टम खड़ा किया है, जिस वजह से सरकारी योजनाओं का लाभ पाना आसान हुआ। उन्होंने कहा...

चंडीगढ़,(बंसल): हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि आज हरियाणा बाकी सब प्रदेशों से आगे निकला है वो टैक्नोलॉजी के माध्यम से ही संभव हो पाया है। हमने टैक्नोलॉजी के माध्यम से एक सिस्टम खड़ा किया है, जिस वजह से सरकारी योजनाओं का लाभ पाना आसान हुआ। उन्होंने कहा कि हमने चुनाव के घोषणा पत्र में घोषणा की थी कि पारदर्शी, स्वच्छ प्रशासन और भ्रष्टाचार मुक्त शासन देंगे। हमने सत्ता में आने के बाद लगातार इस पर काम किया। हमने साढ़े सात साल के कार्यकाल में इतने कार्यक्रम चलाए कि अब भ्रष्टाचार की गुंजाइश न के बराबर रह गई है। इसमें इन्फॉर्मेशन टैक्नोलॉजी (आई.टी.) का अहम योगदान है। मुख्यमंत्री दिल्ली में आयोजित मीडिया महामंथन कार्यक्रम में बोल रहे थे। 

 


मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने कई ऐसी योजनाएं बनाई हैं, जिसका पूरे देश में अनुसरण हो रहा है। हमारी सरकार की लाल डोरा योजना को स्वामित योजना के नाम से पूरे देश में लागू किया गया है। लाल डोरा के अंदर रिहायशी एरिया की प्रॉपर्टी का प्रमाण नहीं होता था। इसको खत्म कर हमने हर एक को जमीन का मालिकाना हक दिलाया। मुख्यमंत्री ने बताया कि परिवार पहचान पत्र योजना का भी केंद्र सरकार अध्ययन कर रही है। इसे भी अन्य प्रदेशों में लागू करवाने की योजना बन रही है। मुख्यमंत्री ने बताया कि परिवार पहचान पत्र योजना के जरिए 69 लाख परिवारों को रजिस्टर किया गया है। लोगों को घर बैठे हरियाणा सरकार की योजनाओं का लाभ मिल रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने मुहावरा प्यासा कुआं के पास जाता है को बदल कर कुआं प्यासे के पास जाएगा ऐसी व्यवस्था बनाने का काम किया है यानी सरकार उसके पास जाएगी जिसको जरूरत है। इसी को देखते हुए अंत्योदय परिवार उत्थान योजना बनाई है जिसके माध्यम से 1 लाख से कम इनकम वाले परिवार को चुना गया और उनकी इनकम को 1 लाख 80 हजार तक पहुंचाने का बीड़ा उठाया गया है। 

 


हरियाणा खेल और पढ़ाई में भी बाकी राज्यों के लिए मिसाल बना 
मुख्यमंत्री ने कहा कि कृषि और इंडस्ट्री के साथ-साथ हरियाणा खेल और पढ़ाई में भी बाकी राज्यों के लिए मिसाल बना है। हमने खिलाडिय़ों को बराबर के अवसर प्रदान किए हैं। मैडल जीतने पर खिलाडिय़ों को हरियाणा में मिलने वाली ईनाम राशि भी अन्य राज्यों से ज्यादा है। ओलिम्पिक में गोल्ड मैडल जीतने पर हरियाणा सरकार द्वारा 6 करोड़ का ईनाम दिया जाता है। देश में कोई अन्य राज्य ऐसा नहीं है, जहां इतनी ज्यादा ईनाम राशि मिलती हो। उन्होंने कहा कि खिलाडिय़ों को नौकरियों में भी आरक्षण दिया जा रहा है। ग्रुप डी में खिलाडिय़ों के लिए 10 प्रतिशत नौकरियां आरक्षित की हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षा का स्तर ऊंचा उठाने के लिए सरकार लगातार काम कर रही है। यह आई.टी. का जमाना है, इसलिए बच्चों को ऑनलाइन शिक्षा के लिए टैबलेट वितरित किए हैं। मुख्यमंत्री ने बताया कि सरकार ने लगभग 650 करोड़ रुपए की लागत से 10वीं, 11वीं और 12वीं के 5 लाख छात्रों को टैबलेट दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि राजनीति में लोग स्वार्थों के लिए जातियों के वोटबैंक खड़ा करते हैं लेकिन हमने इसके विपरीत समाज के सभी लोगों के लिए एक समान कार्य किया। 

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!