झीलों से होगी दिल्ली गुलजार, कई प्राकृतिक व कृत्रिम झीलों की सुधरेगी लाइफ लाइन

Edited By Niyati Bhandari, Updated: 04 Jun, 2022 09:48 AM

delhi will be buzzing with lakes

जल ही जीवन है। प्यास बुझाने के लिए जल जितना आवश्यक है, उतना ही पर्यावरण संतुलन बनाए रखने के लिए भी जल जरूरी है। जल क्षेत्र वह भी शहर के बीच प्रदूषण को

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
Delhi will be buzzing with lakes:
जल ही जीवन है। प्यास बुझाने के लिए जल जितना आवश्यक है, उतना ही पर्यावरण संतुलन बनाए रखने के लिए भी जल जरूरी है। जल क्षेत्र वह भी शहर के बीच प्रदूषण को दूर करने के लिए बड़ी संख्या में होने चाहिए। दिल्ली की 20 झीलों का कायाकल्प किया जा रहा है। झीलों से दिल्ली गुलजार होगी। दिल्ली सरकार के पर्यावरण विभाग व वेटलैंड अथॉरिटी द्वारा झीलों के संरक्षण व उसके सौंदर्यीकरण पर काम किया जा रहा है। पानी के स्त्रोत के साथ ही ये झीलें जलीय जीवन को लाभ पहुंचाएंगी और जलवायु को नियंत्रित करने में मदद करेंगी। प्रस्तुत है कुछ झीलों की झलक:-

नजफगढ़ झील
कभी दिल्ली में बहने वाली साहिबी नदी जो यमुना नदी में मिलती थी, इसे बाद में नजफगढ़ झील और वर्तमान में नजफगढ़ नाला कहा जाने लगा। इसमें अनाधिकृत कॉलोनियों की जलनिकासी कर दी गई, जिससे दक्षिण-पश्चिमी दिल्ली की लाईफ लाईन कही जाने वाली झील आज गंदे नाले में तब्दील हो गई है। इसके दिन अब फिरेंगे और सूरत बदलेगी। 

PunjabKesari Lakes in Delhi, Najafgarh Lake, Bhalswa Lake

भलस्वा झील
भलस्वा झील को किसी जमाने में देशी-विदेशी पक्षियों की मेजबानी करने के लिए जाना जाता था। खासकर जलपक्षी जैसे सारस व बत्तखों का यह प्रिय स्थान हुआ करता था। यह झील घोड़े की नाल के आकार की है। लेकिन बीते कई सालों में इसका आधा हिस्सा लैंडफिल क्षेत्र के रूप में इस्तेमाल किया गया, अब हाल सुधरने की आस है।

PunjabKesari Lakes in Delhi, Najafgarh Lake, Bhalswa Lake

टिकरी खुर्द झील
टिकरी खुर्द गांव में बनी झील को टिकरी खुर्द झील कहा जाता है। यह एक प्राकृतिक झील है, जिसे बैल झील यानि यमुना नदी का एक चैनल भी कहा जाता है। यह इस गांव का  प्रमुख जल स्रोत हुआ करता था। क्षेत्रीय लोगों के लिए इसका खास महत्व है।  दिल्ली विकास प्राधिकरण इसकी देखरेख करता है।

PunjabKesari Lakes in Delhi, Najafgarh Lake, Bhalswa Lake

संजय वन झील
संजय वन झील दक्षिणी दिल्ली में स्थित है, जिसका संरक्षण दिल्ली विकास प्राधिकरण द्वारा किया जा रहा है। संजय वन में स्थित यह झील एक प्राकृतिक झील है, जोकि अनंगपाल तोमर द्वितीय के लालकोट की प्राचीर के समीप स्थित है। बताया जाता है कि यह झील कभी गांव के लोगों की रोजमर्रा की जल जरूरतों को भी पूरा कया करती थी।

PunjabKesari Lakes in Delhi, Najafgarh Lake, Bhalswa Lake

धीरपुर झील
आजादपुर से यमुना नदी के वर्तमान तट तक दलदल के अवशेष फैले हुए थे। जोकि अब धीरपुर में देखने को मिलते हैं। धीरपुर झील को धीरपुर वेटलैंड कहा जाता है। हाल ही में धीरपुर की आर्द्रभूमि को बहाल करने का फैसला लिया गया था। यही नहीं डीडीए ने अंबेडकर विश्व विद्यालय के साथ एक प्रबंधन समझौता भी किया था।

PunjabKesari Lakes in Delhi, Najafgarh Lake, Bhalswa Lake

कुछ कृत्रिम व ऐतिहासिक झीलों का भी होगा कायाकल्प
प्राकृतिक झीलों के साथ ही कुछ कृत्रिम झीलों का कायाकल्प भी दिल्ली सरकार द्वारा किया जाएगा। इनमें संजय लेक, हौजखास लेक, स्मृति वन कोंडली, स्मृति वन वसंत कुंज, वेलकम झील, डिस्ट्रिक पार्क अवंतिका सेक्टर 1 रोहिणी, राजौरी गार्डन लेक इत्यादि शामिल हैं।

PunjabKesari Lakes in Delhi, Najafgarh Lake, Bhalswa Lake, Tikri Khurd Lake

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!