पतंजलि के साथ करोड़ों लोगों ने मनाया योग दिवस : स्वामी रामदेव

Edited By Jyoti, Updated: 22 Jun, 2022 09:34 AM

international yoga day

हरिद्वार : सम्पूर्ण मानवता को स्वस्थ शरीर व निरोगी जीवन प्रदान करने तथा योग को प्रचारित-प्रसारित करने के उद्देश्य से पूरे विश्व में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन किया गया।

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
हरिद्वार :
सम्पूर्ण मानवता को स्वस्थ शरीर व निरोगी जीवन प्रदान करने तथा योग को प्रचारित-प्रसारित करने के उद्देश्य से पूरे विश्व में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन किया गया। इसी कड़ी में पूज्य योगऋषि स्वामी रामदेव जी महाराज के नेतृत्व में वैलनेस केन्द्र, पतंजलि  योगपीठ-ढ्ढढ्ढ  में भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया। वहीं लाल किले पर आयुष मंत्रालय द्वारा संचालित कार्यक्रम में पूज्य आचार्य बालकृष्ण जी महाराज ने केन्द्रीय मंत्री हरदीप पुरी के साथ योग सत्र में भाग लिया। इस अवसर पर पूज्य स्वामी रामदेव जी महाराज ने कहा कि योग भारत की सांस्कृतिक विरासत है।
PunjabKesari Yog, International Yog Day, Yoga, International Yoga Day, Yoga day 2022, योग दिवस, अंर्तराष्ट्रीय योग दिवस, Dharm, Punjab Kesari, पतंजलि, Patanjali, Swami Ramdev, Ramdev Baba, Celebration of Yoga International Day
योग अनुशासित व रोगमुक्त जीवन जीने की कला तथा मानसिक व शारीरिक विकारों का शमन कर मनुष्य व प्रकृति के मध्य सामंजस्य स्थापित करने का सशक्त माध्यम है। हम पतंजलि वैलनेस में योग व प्राकृतिक चिकित्सा के माध्यम से लाखों निराश-हताश रोगियों के जीवन में नई ऊर्जा व उमंग का संचार कर रहे हैं।
PunjabKesari Yog, International Yog Day, Yoga, International Yoga Day, Yoga day 2022, योग दिवस, अंर्तराष्ट्रीय योग दिवस, Dharm, Punjab Kesari, पतंजलि, Patanjali, Swami Ramdev, Ramdev Baba, Celebration of Yoga International Day
उन्होंने कहा कि योग को प्रचारित प्रसारित करने में देश के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का  बड़ा योगदान है। आजादी के 75वें वर्ष में आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत देश के पतंजलि योग समितियों के सहयोग से देश के 75 ऐतिहासिक, सांस्कृतिक तथा आईकोनिक स्थानों, 500 जिलों की लगभग 5000 तहसीलों में करोड़ों लोगों ने एकरूपता के साथ योग किया। इसमें करोड़ों लोगों ने भाग लिया। निर्धारित समय पर कॉमन योग प्रोटोकॉल के अनुसार योग सत्र प्रार्थना के साथ प्रारंभ हुआ। इसके पश्चात सूक्ष्म व्यायाम में ग्रीवा संचालन, स्कंध व भुजाओं का संचालन में स्कन्ध ङ्क्षखचाव, स्कन्ध चक्र, कटिशक्ति संचालन, कटि संचालन तथा घुटना संचालन का अभ्यास कराया गया। तत्पश्चात ताड़ासन, वृक्षासन, पादहस्तासन, अर्धचक्रासन दंडासन, भद्रासन, वज्रासन आदि किए।
 

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!