Mithun Sankranti 2022: इन राशियों के घर खुलेगा कुबेर का खजाना

Edited By Niyati Bhandari, Updated: 15 Jun, 2022 06:54 AM

mithun sankranti

प्रत्येक माह सूर्य के राशि परिवर्तन के साथ-साथ ऋतु परिवर्तन होता है। जब-जब सूर्य राशि परिवर्तन करते हैं तो उसे सूर्य संक्रांति के रूप में मनाया जाता है। सूर्य का राशि परिवर्तन प्रत्येक राशि में अपना विशेष महत्व लिए होता है।

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

Mithun Sankranti 2022: प्रत्येक माह सूर्य के राशि परिवर्तन के साथ-साथ ऋतु परिवर्तन होता है। जब-जब सूर्य राशि परिवर्तन करते हैं तो उसे सूर्य संक्रांति के रूप में मनाया जाता है। सूर्य का राशि परिवर्तन प्रत्येक राशि में अपना विशेष महत्व लिए होता है। जेष्ठ मास में सूर्य भगवान वृषभ राशि से निकलकर मिथुन राशि में प्रवेश करते हैं, जिससे कि मिथुन संक्रांति के रूप में मनाया जाता है। जो अत्यंत शुभ फलदायक होती है और मिथुन संक्रांति वाले दिन सूर्य का मिथुन राशि में प्रवेश करना कई राशियों पर शुभ-अशुभ प्रभाव लेकर आता है। मिथुन बुध ग्रह की राशि है। जो हमेशा सूर्य के साथ चलने वाला ग्रह है और सूर्य के साथ मिलकर बुधादित्य योग का निर्माण करता है। अपने मित्र की राशि में सूर्य का राशि परिवर्तन बहुत सारे जातकों पर शुभ प्रभाव लेकर आता है। इस बार 15 जून को मिथुन संक्रांति पड़ रही है, इसका 12 राशियों पर क्या प्रभाव रहेगा। ये है इसके बारे में विशेष जानकारी।

PunjabKesari Mithun Sankranti

मेष: इस राशि के जातकों पर सूर्य का मिथुन राशि में प्रवेश होने से सूर्य तीसरे भाव में गोचर करेंगे। जिससे कि शौर्य और पराक्रम में वृद्धि होगी, यात्राएं शुभ फलदायक रहेंगी।

वृष: वृष राशि में सूर्य का गोचर बदल कर मिथुन राशि में होने से इस राशि पर अच्छा लाभ मिलेगा। आपकी यात्रा का योग बढ़ेगा।  धन संबंधी मामले सुदृढ़ होंगे।

मिथुन: मिथुन राशि में सूर्य का गोचर इन राशि वालों को विशेष लाभ देगा। आपके अंदर स्वाभिमान, आत्मविश्वास, ऊर्जा की भरमार रहेगी और इसके साथ ही यश मान में वृद्धि होगी।

कर्क: कर्क राशि में सूर्य का प्रभाव बारहवें भाव में बैठेगा। यह भाव यात्रा, अस्पताल, जेल का होता है। इनसे संबंधित चीजों में लाभ मिलेगा। धन खर्च भी नियंत्रित होगा।

सिंह: सिंह राशि में सूर्य का मिथुन राशि में गोचर सामान्य प्रभाव देगा। ग्यारहवें भाव में गोचर करते हुए इन राशि वालों को लाभ के अवसर अवश्य मिलेंगे।

कन्या: इस राशि के जातकों पर सूर्य का गोचर अधिक लाभ नहीं देगा क्योंकि दशम भाव कर्म का भाग होता है परंतु शनि महाराज के प्रभाव के कारण यहां पर सूर्य पिता के लिए थोड़ा कष्टकारी रहता है।

तुला: तुला राशि में सूर्य का गोचर नवम भाव में भाग्योदय का कारक बनेगा। आपका भाग्य आपका साथ देगा, जल संबंधी यात्राओं से लाभ मिलेगा।

PunjabKesari Mithun Sankranti

वृश्चिक: इस राशि के जातकों के लिए मिथुन राशि का गोचर अधिक फलदाई नहीं होगा क्योंकि अष्टम भाव में सूर्य का प्रभाव यश मान में कमी लाता है परंतु जातक को दीर्घायु बनाता है।

धनु: धनु राशि वालों के लिए सूर्य सप्तम भाव में गोचर करेंगे। यह गोचर पार्टनरशिप के लिहाज से अच्छा रहेगा। डेली इनकम में वृद्धि होगी परंतु जीवन साथी के स्वास्थ्य के लिए लाभदायक नहीं सिद्ध होता है।

मकर: छठे भाव में सूर्य का मिथुन राशि में प्रभाव जातक के लिए शत्रु हंता योग का निर्माण करता है परंतु इसके साथ-साथ स्वास्थ्य के लिए हादसे चिंताजनक स्थिति बनाते हैं।

कुंभ: कुंभ राशि वालों के लिए सूर्य पंचम भाव में स्थिति बनाए हुए होंगे। पंचम भाव सूर्य के लिए अति शुभ माना जाता है, इस भाव में होने से सरकारी व पब्लिक सेक्टर से पैसा कमाने में आसानी रहेगी।

मीन: मीन राशि वाले जातकों के लिए सूर्य देव चौथे भाव में गोचर करेंगे, चौथा भाग सुख का भाव होता है वाहन इत्यादि खरीदने के लिए उपयुक्त समय रहेगा।

नीलम
8847472411

PunjabKesari Mithun Sankranti

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!