Vat Savitri Vrat: पति से चाहिए बेशुमार प्यार, वट सावित्री पर अवश्य करें ये काम

Edited By Niyati Bhandari, Updated: 30 May, 2022 08:44 AM

vat savitri vrat

वट सावित्री का व्रत ज्येष्ठ मास की अमावस्या के दिन मनाया जाता है। वट सावित्री व्रत के दिन सुहागिन महिलाएं अपने पति की लंबी आयु के लिए व्रत करती हैं। इस बार वट सावित्री का व्रत आज यानी 30 मई 2022 को सोमवार के दिन पड़ रहा है।

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

Vat Purnima Vrat 2022: वट सावित्री का व्रत ज्येष्ठ मास की अमावस्या के दिन मनाया जाता है। वट सावित्री व्रत के दिन सुहागिन महिलाएं अपने पति की लंबी आयु के लिए व्रत करती हैं। इस बार वट सावित्री का व्रत आज यानी 30 मई 2022 को सोमवार के दिन पड़ रहा है। जो कि अपने आप में एक अत्यंत शुभ संयोग है। सोमवार के दिन वट वृक्ष की पूजा करना खास होता है। प्राचीन काल में जब सती सावित्री ने अपने पति के प्राण यमराज से वापस आशीर्वाद के रूप में मांग लिए थे, तभी से ही सुहागन महिलाएं देवी सावित्री के नाम पर यह व्रत अपने पति को दीर्घायु बनाने के लिए करती हैं। इस व्रत को करने से अखण्ड सौभाग्य व अच्छे वर की प्राप्ति होती है। व्रत के प्रभाव से पति-पत्नी के संबंधों में भी सुधार आता है एवं खराब हुए रिश्ते भी फिर से जुड़ जाते हैं।

PunjabKesari Vat Savitri Vrat

Vat savitri puja 2022: वट सावित्री व्रत के दिन वट वृक्ष की कुछ खास तरीके से पूजा करने पर पति से बेशुमार प्यार मिलता है। सुहागन वट वृक्ष की पूजा संध्या के समय पूरा दिन निर्जला व्रत रहकर करें। प्रातः काल में स्वच्छ होने के पश्चात अपने इष्ट का ध्यान करते हुए उगते सूरज के साथ व्रत करने का संकल्प करें। इसके पश्चात पूरा दिन निर्जल रहकर सती सावित्री और मां पार्वती का ध्यान करें।

PunjabKesari Vat Savitri Vrat

Vat savitri upay: वट वृक्ष का पूजन करते समय पीले रंग का सूत्र बांधते हुए अपने रिश्ते की मजबूती की कामना करें। देवी सती से  पति की दीर्घायु और सुखी वैवाहिक जीवन का आशीर्वाद अवश्य मिलेगा।

वट वृक्ष यानी बरगद के पेड़ पर दूध व शहद मिलाकर अर्ध्य दें। इसके साथ-साथ वट वृक्ष का पूजन करते समय खाद्य पदार्थ, फल-फूल, धूप और अगरबत्ती दिखाकर सच्चे हृदय से पूजा करें। कुछ ही दिनों में आप देखेंगे की उम्मीद से अधिक लाभ प्राप्त होंगे।

ऐसी मान्यता है कि आज के दिन वट वृक्ष की छाया में जो महिला सच्चे दिल से कथा व कीर्तन करती है, उसकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं।

अखंड सौभाग्य व सुख-समृद्धि की प्राप्ति के लिए अपनी सामर्थ्य व श्रद्धानुसार दान-दक्षिणा दें।

देवी सती से सुखी वैवाहिक जीवन का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए सुहागिनों को श्रृंगार का सामान भेंट करें।  

वट सावित्री का व्रत करने वाली स्त्रियों को व्रत वाले दिन किसी से वाद-विवाद, निंदा-चुगली और बुराई करने से बचना चाहिए।

नीलम
8847472411 

PunjabKesari Vat Savitri Vrat

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!