अग्निपथ योजना दूसरे देशों के सैन्य मॉडल का नमूना, देश के लिए हितकारी

Edited By Archna Sethi, Updated: 20 Jun, 2022 06:45 PM

agneepath plan sample of military of other countries

राष्ट्रभक्त युवाओं के लिए अग्निपथ योजना वरदान से कम नहीं

चंडीगढ़, (अर्चना सेठी): पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री व अंबाला लोकसभा सांसद  रतनलाल कटारिया ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा घोषित अग्निपथ योजना का एक सोचे समझे षडयंत्र के अंतर्गत विरोध करना किसी भी दृष्टि से उचित नहीं हैं, वो भी तब जबकि इस योजना के बारे में पैदा की गई अशंकाओ के बारे में सरकार ने सभी भ्रम दूर कर दिये हैं l अब इस योजना का विरोध बंद हो जाना चाहिए, यह योजना बहुत विचार विमर्श करने के बाद और कई देशों के सैन्य मॉडल का निरीक्षण करने के बाद बनाई गई है l इस योजना का उद्देश्य युवाओं के जोश-होश के बीच तालमेल बनाना है l देश सेवा का जज्बा रखने वाले राष्ट्रभक्त युवाओं के लिए अग्निपथ योजना वरदान से कम नहीं है l

 

 

कटारिया ने कहा कि 17.5  वर्ष से 21 वर्ष तक के युवा उम्मीदवार भर्ती में शामिल हो सकते हैं, पहले बैच के लिए यह आयु सीमा बढ़ाकर 23 वर्ष कर दी गई है l वहीं सेना के तीनों अंगों ने भर्ती प्रक्रिया शुरू करने के लिए तारीखों का ऐलान भी कर दिया है. थल सेना ने कहा है कि उसकी भर्ती प्रक्रिया 1 जुलाई से शुरू हो जाएगी, वही वायु सेना की भर्ती प्रक्रिया 24 जून से शुरू होगी जबकि नौसेना की भर्ती प्रक्रिया 25 जून से शुरू हो जाएगी और इस वर्ष के अंत तक अग्निवीर के पहले बैच को सेनाओ में शामिल कर लिया जाएगा l

 

 

कटारिया ने कहा कि सभी अग्निवीरों को आम जवानों की तरह फायदे मिलेंगे, इस योजना की कुछ प्रमुख बाते :-
•    यह भर्ती 4 साल के लिए की जाएगी l
•    हर साल 30 दिन की छुट्टी मिलेगी l
•    सिक लीव l 
•    हर महीने ₹30000 सैलरी l
•    हर साल इंक्रीमेंट l
•    रिस्क, ट्रेवल, ड्रेस और हार्डशिप अलाउंस l
•    कैंटीन सुविधा और मेडिकल सुविधा l
•    4 साल के बाद अग्निवीरों को एकमुश्त लगभग 12 लाख निधि के रूप में राशि प्राप्त होगी l
•    असम राइफल, सीएपीएफ, तटरक्षक और रक्षा सार्वजनिक उपक्रमों में नौकरियों में वरीयता l
•    शहादत पर परिवार को बीमा समेत करीब एक करोड रुपए की राशि मिलेगी l 
•    विकलांगता पर एक्स ग्रेशिया और बची हुई नौकरी की सैलरी और सेवा निधि मिलेगी l
कटारिया ने कहा कि वर्ष 2030 तक भारत में 50% युवा 30 वर्ष आयु के होंगे ऐसे में सेना में वर्तमान में  औसत आयु 32 वर्ष है, सेना में औसत उम्र को कम करना बहुत आवश्यक हो गया था इसलिए इस योजना को लागू करने के उपरांत भारतीय सेना में जवानों की औसत उम्र 26 वर्ष हो जाएगी जो देश और सेना के लिए एक अच्छा संकेत है l भारतीय सेना को चीन और पाकिस्तान जैसे देशों से निरंतर बने हुए खतरे को देखते हुए सेनाओं में युवा जोश की निरंतर जरूरत रहती हैं जिसे अग्निवीर पूरा कर दुश्मन देश के होंसलो को पस्त करेगें l

 

 

 

कटारिया ने कहा कि हाल के वर्षों में सरकार के हर फैसले का हिंसक विरोध व विपक्षी राजनीति के घटिया ट्रेड के कारण देश का नुकसान अधिक हुआ है l सरकार ने सेना की बहुत पुरानी मांग को गहन विचार-विमर्श और कई देशों की सेनाओं की भर्ती प्रक्रिया के निरीक्षण के उपरांत यह एक योजना देश के उज्जवल भविष्य के लिए लागू की है l जिसका समस्त देशवासियों को स्वागत करते हुए देश में हो रहे रिफॉर्म्स की दिशा में सरकार के बढ़ते आवश्यक कदमों की सराहना करनी चाहिए l कटारिया ने कहा कि अग्नीपथ योजना के विरोध में देश को जलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के साथ-साथ उन्हें समझाने की जरूरत है ताकि देश का युवा भारत के विकास में बढ़-चढ़कर भाग ले l

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!