हर गांव में योगशाला खोलने का प्रयास, एक हजार योगशाला तैयार

Edited By Archna Sethi, Updated: 21 Jun, 2022 05:21 PM

efforts to open yogashala in every village one thousand yogashalas ready

अंर्तराष्ट्रीय योग दिवस पर हजारों योग साधकों के बीच गृह मंत्री अनिल विज ने किए योग आसन

चंडीगढ़, (अर्चना सेठी): हरियाणा के गृह एवं आयुष मंत्री  अनिल विज ने कहा कि हर गांव में योगशाला खोलने का प्रयास प्रदेश में किया जा रहा है। अब तक एक हजार योगशाला बनकर तैयार हो चुकी है। आयुष मंत्री विज अंर्तराष्ट्रीय योग दिवस पर अम्बाला छावनी के वार हीरोज मेमोरियल स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम में योग साधकों एवं अन्य लोगों को संबोधित कर रहे थे।

 

 

उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार योग को बढ़ावा देने के लिए लगातार प्रयत्नशील है। योग को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश में योग आयोग का गठन किया गया। उन्होंने कहा कि देश में शायद ही एक या दो प्रदेशों में योग आयोग होगा जो योग का बढ़ावा देने का काम कर रहा है। उन्होंने कहा यदि कहीं योगशाला नहीं है तो पार्कों एवं धर्मशालाओं में भी योग करवाई जा सकती है इसके लिए सरकार योग को बहुत बढ़ावा देना चाहती है तथा प्रत्यनशील भी है। आज न केवल हिंदुस्तान बल्कि समूचे विश्व में योग दिवस मनाया जाता है। आज सारे विश्व में योग शिक्षकों की आवश्यकता हिंदुस्तान से पूरी की जा रही है। सारे विश्व में हिंदुस्तान से योग कराने वालों को मांगा जा रहा है। इससे पूर्व मंत्री अनिल विज ने योगा प्रोटोकॉल के तहत 40 मिनट तक हजारों योग साधकों के बीच सभी योग आसन भी किए। 

 

 

गृह मंत्री विज ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने योग दिवस को अंतरराष्ट्रीय दिवस के तौर पर मनाने के लिए वर्ष 2014 में यूएनओ में बात रखी और अधिकतर देशों का उसमें समर्थन प्राप्त हुआ। कभी भी किसी प्रस्ताव पर इतना समर्थन अन्य देशों से नहीं मिला जितना इस योग दिवस को मनाने के लिए मिला। तभी से लगातार हम 21 जून को योग दिवस मना रहे हैं। यह देश के लिए गर्व का दिन है कि हिंदुस्तान की इस विद्या को समूचे विश्व ने स्वीकार किया है। यह सब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वजह से संभव हो सका है। 

 

 

विज ने कहा कि योग दिवस मनाने का उद्देश्य है कि जो लोग अभी इस कार्य में नहीं लगे वह भी लगे। वर्ष में एक दिन योग करने से किसी प्रकार का कोई कल्याण होने वाला नहीं है। योग दिवस हम इसलिए मनाते हैं कि योग को लोग अपनी जीवनशैली का अंग बनाए। उन्होंने कहा कि योग हमारे देश की बहुत प्राचीन विद्या है, ऋषि-मुनियों ने काफी खोजबीन कर एक-एक योग का निर्धारण किया है। तन और मन को साधना ही योग का सही मायनों में अर्थ होता है। शरीर में अनेक प्रकार की व्याधियां उत्पन्न हो जाती है, सारे शरीर में रक्त प्रवाह जिस प्रकार होना चाहिए वो किन्हीं न किन्हीं कारणों से अवरूद्ध हो जाता है और पूर्णतः नहीं होता है, यहीं अनेकों बीमारियों का कारण बनता है। जब हम योग करते हैं, उसका भावार्थ यहीं है कि शरीर के भिन्न-भिन्न अंगों पर दबाव डालना ताकि शरीर में रक्त प्रवाह ठीक तरीके से हो सके। उससे अनेकों बीमारियों से बचाव भी होता है और बीमारी होने की स्थिति में उसका उपचार भी होता है। योग का अर्थ है कि हम मन को साधे और इसको भी हम नियंत्रण में करें। जो हम चाहे वह उसके बारे में ही काम करे, जैसा हम इससे काम लेना चाहे वह ऐसा ही काम करें और ऋषि मुनियों ने ऐसा करके दिखाया है। 

 

 

पत्रकारों से बातचीत के दौरान गृह एवं आयुष मंत्री अनिल विज ने कहा कि योग तन और मन की साधना के लिए जरूरी है। हरियाणा में दो प्रतिष्ठित स्थानों पर कुरुक्षेत्र में और दूसरा राखीगढ़ी में जहां बहुत पुरानी सभ्यता है वहां पर योग दिवस मनाया गया है। इसी तरह, भारत में 75 प्रतिष्ठित स्थानों पर व्यापक स्तर पर योग दिवस मनाया गया है। इससे पहले, गृह एवं आयुष मंत्री अनिल विज के कार्यक्रम स्थल पर पहुंचने पर अम्बाला मंडल कमिश्नर रेणु फुलिया, डीसी विक्रम सिंह, एडीसी सचिन गुप्ता, एसपी जश्नदीप सिंह रंधावा एवं अन्य अधिकारियों ने उनका स्वागत किया। योग कोच पंकज बक्शी ने इस दौरान सभी को विभिन्न योग आसन करवाए। मंत्री अनिल विज ने इस दौरान योग साधकों एवं योग को बढ़ावा के लिए बेहतर कार्य करने वालों को सम्मानित भी किया। इस अवसर पर जिला योग फेडरेशन के प्रधान राजिंद्र विज, भाजपा मंडल प्रधान राजीव गुप्ता डिम्पल, अजय पराशर, किरणपाल चौहान, नीता खेड़ा सहित कई पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Related Story

Trending Topics

England

India

Match will be start at 08 Jul,2022 12:00 AM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!