स्कॉटलैंड में ओमीक्रोन के 6 मामले, ब्रिटेन में कुल मामले बढ़कर हुए 11

Edited By Pardeep, Updated: 30 Nov, 2021 07:00 AM

6 cases of omicron in scotland total cases in britain increased to 11

स्कॉटलैंड में कोरोना वायरस के नए स्वरूप ओमीक्रोन के छह मामले सामने आए हैं जिससे ब्रिटेन में इसके कुल मामले बढ़कर 11 हो गए हैं। इससे पहले ब्रिटेन में ओमीक्रोन के तीन मामले सामने

लंदनः स्कॉटलैंड में कोरोना वायरस के नए स्वरूप ओमीक्रोन के छह मामले सामने आए हैं जिससे ब्रिटेन में इसके कुल मामले बढ़कर 11 हो गए हैं। इससे पहले ब्रिटेन में ओमीक्रोन के तीन मामले सामने आये थे, जबकि दो मामलों का पता सोमवार को लंदन में चला। 

ब्रिटेन के स्वास्थ्य सुरक्षा एजेंसी (यूकेएचएसए) ने कहा कि लंदन के कैमडेन और वैंड्सवर्थ क्षेत्रों में सामने आए दो मामलों में दक्षिणी अफ्रीका की यात्रा से संबंध हैं। इससे पहले स्कॉटलैंड सरकार ने कहा था कि चार मामले लनार्कशायर में और दो ग्रेटर ग्लासगो और क्लाइड क्षेत्र में सामने आये हैं। ब्रिटेन में सामने आए सभी मामलों में दक्षिण अफ्रीका की यात्रा से संबंध है। हालांकि स्कॉटलैंड में सामने आये मामलों में संक्रमितों का कोई यात्रा इतिहास नहीं है और संभव है कि उन्हें इसका संक्रमण समुदाय में ही हुआ हो। 

स्कॉटलैंड के उप प्रथम मंत्री जॉन स्वीनी ने कहा, ‘‘कुछ मामलों में, हम जानते हैं कि उनमें कोई यात्रा इतिहास शामिल नहीं है। तो इससे हमें पता चलता है कि वायरस के इस विशेष स्वरूप का कुछ सामुदायिक संचरण होना संभव है।'' 

उन्होंने हालांकि यह भी कहा कि यह कहना अभी जल्दबाजी होगी कि क्या इस नए स्वरूप के खिलाफ और भी कड़े सामाजिक दूरी के मानदंडों की आवश्यकता है जिसके संभावित रूप से अत्यधिक संक्रामक होने की आशंका है। उन्होंने साथ ही यह भी कहा कि वर्तमान टीकों के प्रति इसकी प्रतिक्रिया का अभी पता लगाया जाना बाकी है। स्कॉटलैंड के स्वास्थ्य मंत्री हमजा यूसुफ ने कहा, ‘‘नए स्वरूप से संक्रमित पाए गए छह लोगों के लिए यह चिंताजनक समय होगा।'' 

डब्ल्यूएचओ द्वारा ओमीक्रोन ‘‘चिंता वाला स्वरूप'' घोषित 
उन्होंने कहा, ‘‘स्कॉटलैंड का स्वास्थ्य विभाग संक्रमितों के सम्पर्क में आए व्यक्तियों का पता लगाने के लिए अभियान शुरू करेगा। इससे वायरस की उत्पत्ति के साथ ही हाल के हफ्तों में संक्रमितों के संपर्क में आने वाले किसी भी अन्य व्यक्ति का पता लगाने में मदद मिलेगी।'' ओमीक्रोन स्वरूप के तेजी से फैलने और टीके की सुरक्षा को आंशिक रूप से कम करने की आशंका है। इसकी पहचान सप्ताह की शुरुआत में दक्षिण अफ्रीका में की गई थी और विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने ओमीक्रोन को ‘‘चिंता वाला स्वरूप'' घोषित कर दिया था। 

दक्षिण अफ्रीका में आया था ओमीक्रोन का पहला मामला
ओमीक्रोन का सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका में पता चला था और इसके मामले बाद में ऑस्ट्रेलिया, जर्मनी, इज़राइल और हांगकांग सहित दुनियाभर के देशों में सामने आये थे। ब्रिटेन ने दक्षिणी अफ्रीका के दस देशों को ब्रिटेन की यात्रा प्रतिबंध ‘‘लाल सूची'' में जोड़ा है और मंगलवार से ब्रिटेन आने वाले सभी विदेशी यात्रियों को पीसीआर जांच कराने की आवश्यकता होगी। भारत ने भी अपनी प्रतिक्रिया के तहत अपने अंतरराष्ट्रीय यात्रा मानदंडों को कड़ा कर दिया है। भारत ने ब्रिटेन सहित पूरे यूरोप को ‘‘जोखिम वाली'' सूची में रखा है। 

नए स्वरूप के खिलाफ कार्रवाई के तहत हवाई अड्डे पर अतिरिक्त स्क्रीनिंग और स्व-पृथकवास जरूरी है। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने दुकानों और सार्वजनिक परिवहन में अनिवार्य रूप से मास्क लगाने को लेकर योजना बनाई है जिसे इस सप्ताह संसद के समक्ष रखा जाएगा। इस बीच, ब्रिटेन के टीका सलाहकार निकाय ने कोविड-19 रोधी टीके की बूस्टर डोज योजना का विस्तार करके इसमें 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों को शामिल करने का समर्थन किया है। 

Related Story

Trending Topics

Indian Premier League
Gujarat Titans

Rajasthan Royals

Match will be start at 24 May,2022 07:30 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!