ब्रिटिश PM जॉनसन के खिलाफ बगावत तेज, 17 मत्रियों व 12 संसदीय सचिवों ने दिया इस्तीफा

Edited By Tanuja,Updated: 07 Jul, 2022 11:33 AM

list of government resignations over boris johnson s leadership

ब्रिटेन में जारी राजनीतिक उठापटक के बीच प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की कुर्सी पर खतरा मंडरा रहा है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा...

इंटरनेशनल डेस्कः ब्रिटेन में जारी राजनीतिक उठापटक के बीच प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की कुर्सी पर खतरा मंडरा रहा है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि बुधवार शाम तक कैबिनेट के 17 मंत्रियों, 12 संसदीय सचिवों और विदेशों में नियुक्त सरकार के 3 प्रतिनिधियों ने इस्तीफा दे दिया। इस्तीफा देने वाले सभी ने जॉनसन के काम करने के तरीकों, लॉकडाउन पार्टी और कुछ नेताओं के सैक्स स्कैंडल को मुद्दा बनाया है।

PunjabKesari

बुधवार को YouGov के सर्वे में पहली बार सत्तारूढ़ कंजरवेटिव पार्टी के 54 फीसदी समर्थकों ने कहा कि बोरिस को पद छोड़ना चाहिए। जून में हुए सर्वे में 34 फीसदी ने ही बोरिस को पद छोड़ने को कहा था। सर्वे में शामिल रहे 70 फीसदी ब्रिटिश लोग बोरिस के इस्तीफे के पक्ष में हैं। 21 जुलाई से ब्रिटिश संसद ब्रेक पर जाएगी। संसद की छुटि्टयों से पहले बागी सांसद और नेता अपने पक्ष में माहौल करना चाहते हैं। जिससे प्रधानमंत्री जॉनसन के खिलाफ वोटिंग हो सके। साथ ही सत्तारूढ़ कंजरवेटिव कार्यकारी बैठक बुला कर नए नेता का चुनाव हो सके।

PunjabKesari

कैबिनेट में बगावत के बावजूद जॉनसन अपने पद पर रहने को अड़े हुए हैं। उन्होंने पद छोड़ने से इंकार कर दिया है। बोरिस ने दावा किया कि उन्हें अब भी कैबिनेट के अधिकांश सदस्यों का समर्थन मिल रहा है। इसी बीच नए वित्त मंत्री नदीम जहावी ने अपनी नियुक्ति के 24 घंटे में ही जॉनसन को पद छोड़ने की नसीहत दी है। वित्त मंत्री रहे ऋषि सुनक के इस्तीफे के बाद जॉनसन ने जहावी को पद सौंपा था। कैबिनेट के ताकतवर मंत्री माइकल गोव ने भी जॉनसन को पद छोड़ने की सलाह दी। इसके बाद बोरिस ने उन्हें ही पद से हटा दिया है।

PunjabKesari

नए PM की रेस में पूर्व वित्त मंत्री ऋषि सुनक और फॉरेन कॉमन वेल्थ एंड डेवलपमेंट अफेयर्स सेक्रेटरी लिज ट्रस आगे हैं। कोरोना राहत पैकेज के कारण सुनक खासे लोकप्रिय हैं। PM पद की दावेदारी में आगे चल रहे ऋषि सुनाक के घर पर खासी गहमा गहमी रही। ऋषि की पत्नी अक्षता मूर्ति भी एक्टिव हो गई हैं। अक्षता इंफोसिस के को-फाउंडर नारायण मूर्ति की बेटी हैं।  अक्षता का यूं खुद पत्रकारों के लिए ट्रे में चाय लेकर आना ब्रिटिश प्रेस में चर्चाओं का कारण बन रहा है। पीएम पद के दावेदारों में वर्तमान वित्त मंत्री नदीम जहावी और पूर्व विदेश मंत्री जेरेमी हंट भी दौड़ में हैं। माना जा रहा है कि पूर्व रक्षा मंत्री पैनी मॉरडॉट भी अपनी दावेदारी जता सकती हैं। बोरिस जॉनसन के खिलाफ पिछले काफी समय से पैनी मुखर रही हैं। 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!