यूक्रेन की सीमा पार करने पर रूस को ‘‘भारी कीमत चुकानी होगी’’: बाइडन

Edited By PTI News Agency, Updated: 21 Jan, 2022 03:11 PM

pti international story

वाशिंगटन, 21 जनवरी (भाषा) अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने एक बार फिर रूस को चेतावनी जारी करते हुए कहा कि अगर रूस की सेना यूक्रेन की सीमा पार करती है तो उसे इसकी ‘‘भारी कीमत चुकानी पड़ेगी’’।

वाशिंगटन, 21 जनवरी (भाषा) अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने एक बार फिर रूस को चेतावनी जारी करते हुए कहा कि अगर रूस की सेना यूक्रेन की सीमा पार करती है तो उसे इसकी ‘‘भारी कीमत चुकानी पड़ेगी’’।

अमेरिका ने आगाह किया कि यूक्रेन की सीमाओं के पास हजारों की संख्या में सैनिकों को जमा करने वाला रूस किसी भी वक्त आक्रमण कर सकता है।

बाइडन ने बृहस्पतिवार को संवाददाताओं से कहा कि वह रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को अपने इरादे बिल्कुल स्पष्ट कर चुके हैं।

बाइडन ने कहा, ‘‘अगर रूसी इकाइयां यूक्रेन की सीमा पार करती हैं, तो उसे एक आक्रमण माना जाएगा। इसके गंभीर एवं समन्वित आर्थिक प्रभाव होंगे, जिसकी मैंने अपने सहयोगियों के साथ विस्तार से चर्चा की है और राष्ट्रपति पुतिन को इसकी स्पष्ट रूप से जानकारी दे दी है।’’ राष्ट्रपति ने आगाह किया, ‘‘ इसमें कोई संदेह नहीं होना चाहिए कि अगर पुतिन ने यह कदम उठाया तो, रूस को इसकी भारी कीमत चुकानी होगी।’’ बाइडन ने एक दिन पहले ही आशंका जताई थी कि रूस, यूक्रेन में ‘‘दाखिल होगा’’ और आगाह किया था कि इसके ‘‘रूस को भयंकर परिणाम भुगतने होंगे।’’ बाइडन ने इस बात पर जोर दिया कि वे साइबर हमलों, ‘ग्रे-ज़ोन’ हमलों और रूसी सैनिकों द्वारा अपनी वर्दी नहीं पहनने जैसे कृत्यों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर तैयार हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि रूस का आक्रमण करने के लिए प्रत्यक्ष सैन्य कार्रवाई के अलावा अन्य उपायों का उपयोग करने का एक लंबा इतिहास रहा है।

उन्होंने कहा, ‘‘याद है जब ‘लिटिल ग्रीन मेन’ डोनबास में दाखिल हो गए थे? वे उन लोगों से राबता रखते थे, जिन्हें रूस से सहानुभूति थी, जबकि वे कहते थे कि वहां रूस का कोई व्यक्ति मौजूद नहीं है।’’ बिना वर्दी वाले रूस के सैनिकों को ‘लिटिल ग्रीन मेन’ कहा जाता है। इन्होंने ही 2014 में क्रीमिया में रूस के कब्जे के लिए आधार तैयार किया था।

बाइडन ने कहा, ‘‘हमें इनका सामना एकजुटता से करने के लिए तैयार रहना होगा।’’ रूस ने कथित तौर पर यूक्रेन से लगी सीमा पर करीब एक लाख सैनिक तैनात किए हैं, लेकिन लगातार वहां घुसपैठ की बात से इनकार कर रहा है।

वहीं, अमेरिका के वित्त मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को कुछ लोगों पर नए प्रतिबंध लगा दिए थे, जिन पर आरोप है कि वे यूक्रेन पर हमला करने में रूस की मदद कर रहे हैं।

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने कहा, ‘‘यह कार्रवाई रूस के प्रभावित करने वाले नेटवर्क का मुकाबला करने और यूक्रेन को अस्थिर करने के लिए उसके खतरनाक एवं मौजूदा अभियान को बेनकाब करने के हमारे लंबे समय से चल रहे प्रयासों का हिस्सा थी।’’ साकी ने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘‘ये लोग यूक्रेन में, रूस के अस्थिर करने वाले अभियान का हिस्सा थे। हम यूक्रेन की सरकार के साथ खड़े हैं।’’

यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

Related Story

Trending Topics

Indian Premier League
Gujarat Titans

Rajasthan Royals

Match will be start at 24 May,2022 07:30 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!