चीन में मिले बड़े खजाने से खुल सकती हैं रहस्यमयी प्राचीन साम्राज्य की परतें

Edited By PTI News Agency, Updated: 14 Jun, 2022 09:38 AM

pti international story

बीजिंग, 14 जून (भाषा) चीन के पुरातत्वविदों ने करीब 13,000 कलाकृतियों के रिकॉर्ड संग्रह के एक प्राचीन खजाने की खोज की है, जिसके बारे में कहा जाता है कि यह करीब 4,500 से 3,000 साल पुराने किसी रहस्यमयी साम्राज्य का है।

बीजिंग, 14 जून (भाषा) चीन के पुरातत्वविदों ने करीब 13,000 कलाकृतियों के रिकॉर्ड संग्रह के एक प्राचीन खजाने की खोज की है, जिसके बारे में कहा जाता है कि यह करीब 4,500 से 3,000 साल पुराने किसी रहस्यमयी साम्राज्य का है।

चीन की सरकारी शिन्हुआ समाचार एजेंसी ने सोमवार को कहा कि पुरातत्वविदों की कांसे, सोने और जेड के सामान के खजाने की खोज मानव सभ्यता के इतिहास में पहली बार हाल में की गयी। यह खजाना दक्षिणपश्चिमी चीन के सिचुआन प्रांत में सांक्शिंगदुई रुइन्स (खंडहर) में मिला। सांक्शिंगदुई खंडहर की खोज मूल रूप से 1920 के दशक के अंत में हुई थी और इसे 20वीं सदी की दुनिया की सबसे महान पुरातात्विक खोज में से एक बताया गया है।

प्रांतीय राजधानी चेंगदू से करीब 60 किलोमीटर दूर स्थित ग्वांगन शहर में यह खंडहर 12 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में है और इसे शू साम्राज्य का अवशेष माना जा रहा है जो करीब 4,500 से 3,000 साल पहले था।

खंडहर के आसपास पुरातत्वविदों को राख की खाई, स्थापत्य नींव और बलि देने के लिए बनाए गए छोटे गड्ढे तथा सांस्कृतिक अवशेषों के साथ ही बांस, नरकट, सोयाबीन और मवेशी तथा जंगली सुअरों के अवशेष मिले हैं, जिनकी बलि दी गयी होगी।

सिचुआन प्रोविन्शियल कल्चरल रेलिक्स एंड आर्कियोलॉजी रिसर्च इंस्टीट्यूट, पेंकिंग विश्वविद्यालय, सिचुआन यूनिवर्सिटी और अन्य अनुसंधान संस्थानों तथा विश्वविद्यालयों ने 2020 से लेकर अब तक बलि वाले छह गड्ढों की खुदाई से यह खोज की है।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

Related Story

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!