मानवाधिकार आयोग ने बलूच छात्रों के अपहरण और प्रदर्शनकारियों की गिरफ्तारी का किया विरोध

Edited By Tanuja, Updated: 16 Jun, 2022 05:51 PM

rights group condemns abductions of baloch students from karachi university

पाकिस्तान के मानवाधिकार आयोग (HRCP) ने कराची विश्वविद्यालय से बलूच छात्रों के अपहरण और उनके लिए आवाज उठाने वालों के साथ दुर्व्यवहार की...

पेशावरः पाकिस्तान के मानवाधिकार आयोग (HRCP) ने कराची विश्वविद्यालय से बलूच छात्रों के अपहरण और उनके लिए आवाज उठाने वालों के साथ दुर्व्यवहार की हालिया घटना की कड़ी निंदा की है। द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक कराची पुलिस ने सोमवार रात सिंध विधानसभा के बाहर दो लापता छात्रों के अपहरण के खिलाफ धरना दे रहे महिलाओं समेत दर्जनों प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार कर लिया।

 

HRCP ने एक बयान में कहा कि बलूच छात्रों को कथित तौर पर कानून प्रवर्तन कर्मियों द्वारा उठाया जा रहा है, और जो लोग उनकी रिहाई की मांग करते हैं उन्हें परेशान किया जाता है और गिरफ्तार किया जाता है। समूह ने लापता छात्रों के रिश्तेदारों, कार्यकर्ताओं और दोस्तों के खिलाफ सिंध पुलिस द्वारा अत्यधिक बल प्रयोग पर भी गंभीर चिंता व्यक्त की। समूह ने कहा, "  शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारी, जिनमें महिलाएं और बच्चे शामिल थे, सिंध विधानसभा के बाहर अपने प्रियजनों की सुरक्षित  वापसी की मांग करने के लिए एकत्र हुए थे, लेकिन उन्हें हिंसा का सामना करना पड़ा और पुलिस द्वारा जबरन तितर-बितर कर दिया गया।"

 

उन्होंने  अपनी मांग दोहराई कि जबरन गायब सभी व्यक्तियों के संरक्षण के लिए अंतर्राष्ट्रीय कानून के अनुसार अपराधीकरण किया जाना चाहिए।  HRCP ने कहा, "न केवल इस जघन्य प्रथा को एक अलग, स्वायत्त अपराध के रूप में मान्यता दी जानी चाहिए और अपराधियों को सख्ती से जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए, बल्कि पीड़ितों और उनके परिवारों को भी उन सभी के लिए मुआवजा दिया जाना चाहिए।" मानवाधिकार कार्यकर्ताओं का आरोप है कि पाकिस्तान में कानून प्रवर्तन एजेंसियां ​​देश में जबरन गायब होने के मामलों के लिए जिम्मेदार हैं।

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!