बागी मंत्रियों के दबाव में ब्रिटिश PM बोरिस ने दिया इस्तीफा, कहा- दुनिया का सर्वश्रेष्ठ पद छोड़ कर उदास हूं

Edited By Tanuja,Updated: 07 Jul, 2022 05:58 PM

uk pm boris johnson resign report

ब्रिटेन में चल रही सियासी उठा पटक के बीच प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने इस्तीफा दे दिया है ब्रिटिश मीडिया स्काई न्यूज के अनुसार बोरिस जॉनसन के... दुनिया के सर्वश्रेष्ठ पद को छोड़ कर वह उदास हैं लंदन, सात जुलाई (भाषा)

लंदनः ब्रिटेन में चल रही सियासी उठा पटक के बीच प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने बृहस्पतिवार को कंजर्वेटिव पार्टी का नेता पद छोड़ने की घोषणा की और कहा कि दुनिया के सर्वश्रेष्ठ पद को छोड़ कर वह उदास हैं। जॉनसन (58) ने ब्रिटिश प्रधानमंत्री के सरकारी आवास 10 डाउनिंग स्ट्रीट के बाहर राष्ट्र के नाम संबोधन में कहा, "मैं आपको बताना चाहता हूं कि दुनिया के सर्वश्रेष्ठ पद को छोड़ कर मैं कितना उदास हूं।" जब तक कंजर्वेटिव पार्टी का नया नेता चुनने की प्रक्रिया पूरी नहीं हो जाती, जॉनसन 10 डाउनिंग स्ट्रीट के प्रभारी बने रहेंगे।

 

पार्टी का सम्मेलन अक्टूबर में होने वाला है। जॉनसन ने नए नेता को यथासंभव सहयोग देने का वादा किया। उन्होंने "मिले विशेषाधिकार के लिए" ब्रिटिश जनता को धन्यवाद दिया।। ब्रिटिश मीडिया स्काई न्यूज के अनुसार बोरिस जॉनसन के खिलाफ उनकी अपनी ही कंजर्वेटिव पार्टी में बगावत का सामना करना पड़ा।  अब तक 41 मंत्रियों के इस्तीफे  के बाद उन पर इस्तीफा देने का दबाव बढ़ गया था।  इससे पहले बीबीसी और न्यूज एजेंसी रॉयटर्स का भी कहना है कि  जॉनसन पद छोड़ने को तैयार हुए हैं और आज इस्तीफा दे सकते हैं। 

 

जानकारी के अनुसार बोरिस जॉनसन तब तक पद पर बने रहेंगे, जब तक नया प्रधानमंत्री नहीं चुन लिया जाता है। BBC के मुताबिक  अक्टूबर में नया प्रधानमंत्री चुना जाएगा, तब तक बोरिस जॉनसन पद पर बने रहेंगे।  बता दें कि बोरिस जॉनसन की कुर्सी पर संकट वित्त मंत्री ऋषि सुनक के इस्तीफे से शुरू हुआ था । उन्होंने 5 जुलाई को अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। उनके कुछ देर बाद ही स्वास्थ्य मंत्री साजिद जाविद ने भी इस्तीफा दे दिया। और अब तक चार कैबिनेट मंत्री मंत्री इस्तीफा दे चुके हैं। 5 जुलाई को ऋषि सुनक ने सबसे पहले इस्तीफा दिया था।

 

उन्होंने अपने इस्तीफे में लिखा था कि लोगों को उम्मीद होती है कि सरकार ठीक तरह से काम करे। वहीं, साजिद जाविद ने अपने इस्तीफे में लिखा था कि सरकार राष्ट्र हित में काम नहीं कर रही है।  बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक दो दिन में अब तक चार कैबिनेट मंत्री, 22 मंत्री, 22 संसद के निजी सचिव और 5 अन्य लोगों ने इस्तीफा दे चुके हैं। 

 

बोरिस जॉनसन के खिलाफ क्यों हुई बगावत ?
बोरिस जॉनसन के खिलाफ बगावत क्रिस पिंचर की नियुक्ति को लेकर हुई थी। इसी साल फरवरी में जॉनसन ने क्रिस पिंचर को कंजर्वेटिव पार्टी का डिप्टी चीफ व्हिप नियुक्त किया था।  30 जून को ब्रिटिश अखबार 'द सन' ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया था कि क्रिस पिंचर ने लंदन के एक क्लब में दो युवकों को आपत्तिजनक तरीके से छुआ था। पिंचर पर पहले भी यौन दुराचार के आरोप लगते रहे हैं।  ये रिपोर्ट आने के बाद क्रिस पिंचर ने डिप्टी चीफ व्हिप के पद से इस्तीफा दे दिया था।  हालांकि, उनकी ही पार्टी के सांसदों का कहना था कि जॉनसन को उनके ऊपर लगे आरोपों की जानकारी थी, उसके बाद भी उन्हें नियुक्त किया गया। 

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!