महामारी ने छीना मासूमों का बचपन, कोरोना के कारण 4,345 बच्चों के सिर से उठा मां-बाप का साया: सरकार

Edited By rajesh kumar,Updated: 03 Aug, 2022 03:54 PM

4 345 children lost their parents due to corona government

केंद्र सरकार ने बुधवार को संसद को बताया कि कोविड-19 महामारी के के कारण 4,345 बच्चों ने अपने परिजन खो दिए और इस मामले में अन्य राज्यों के मुकाबले महाराष्ट्र सबसे आगे रहा जहां ऐसे बच्चों की संख्या 790 है।

नेशनल डेस्क: केंद्र सरकार ने बुधवार को संसद को बताया कि कोविड-19 महामारी के के कारण 4,345 बच्चों ने अपने परिजन खो दिए और इस मामले में अन्य राज्यों के मुकाबले महाराष्ट्र सबसे आगे रहा जहां ऐसे बच्चों की संख्या 790 है। केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने राज्यसभा को एक सवाल के लिखित जवाब में यह जानकारी दी।

कोविड-19 संक्रमण के कारण अपने माता और पिता को गंवाने वाले बच्चों की संख्या के बारे में पूछे गए गए प्रश्न पर ईरानी ने 36 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के आंकड़े प्रस्तुत करते हुए बताया कि ऐसे बच्चों की कुल संख्या 4,345 है। उनके मुताबिक महाराष्ट्र में 790, उत्तर प्रदेश में 441, मध्य प्रदेश में 428, तमिलनाडु में 394 और आंध्र प्रदेश में 351 बच्चों ने अपने माता और पिता को कोरोना की वजह से गंवाया। केंद्रीय मंत्री द्वारा प्रस्तुत आंकड़ों के मुताबिक त्रिपुरा, सिक्किम, लक्षद्वीप, लद्दाख और अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह में एक भी ऐसा बच्चा नहीं है, जिसने कोविड-19 के कारण अपने माता-पिता को गंवाया।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोविड-19 महामारी के कारण माता-पिता खो चुके बच्चों का सहयोग करने के लिए पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रन योजना की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि इस योजना का उद्देश्य बच्चों की व्यापक देखभाल और सुरक्षा सुनिश्चित करना और स्वास्थ्य बीमा के माध्यम से उनका कल्याण करना, शिक्षा के माध्यम से उन्हें सशक्त बनाना तथा उन्हें 23 वर्ष की आयु तक वित्तीय सहायता के जरिए आत्मनिर्भर बनाना है।

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!