अहमद पटेल के निधन पर PM मोदी ने जताया दुख, राहुल गांधी बोले-सच्चा सलाहकार खो दिया

Edited By Seema Sharma, Updated: 25 Nov, 2020 09:49 AM

ahmed patel dies pm modi rahul gandhi expressed grief

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल का बुधवार सुबह साढ़े तीन बजे निधन हो गया। उन्हें गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उन्होंने अपनी अंतिम सांस ली। इलाज के दौरान उनके कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था। उनके बेटे फैसल पटेल ने...

नेशनल डेस्क: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल का बुधवार सुबह साढ़े तीन बजे निधन हो गया। उन्हें गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उन्होंने अपनी अंतिम सांस ली। इलाज के दौरान उनके कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था। उनके बेटे फैसल पटेल ने ट्विटर पर अपने पिता के निधन की जानकारी साझा की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अहमद पटेल के निधन पर शोक व्यक्त किया है। मोदी ने ट्वीट किया कि अहमद पटेल जी के निधन से दुखी हूं। उन्होंने सार्वजनिक जीवन में लंबे समय तक समाज की सेवा की। अपनी तीक्ष्ण बुद्धि के लिए जाने जाने वाले पटेल का कांग्रेस पार्टी को मजबूत करने में योगदान हमेशा याद किया जाएगा।'

PunjabKesari

पीएम मोदी ने पटेल के बेटे फैजल से बात कर अपनी संवेदनाएं प्रकट कीं। पीएम मोदी ने ट्वीट किया कि भगवान से प्रार्थना है कि अहमद भाई की आत्मा को शांति प्रदान करें। वहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने  पटेल के निधन पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए कहा कि पार्टी ने अपना एक पिलर खो दिया है।

 

बेटे ने ट्वीट कर दी जानकारी
पटेल के बेटे फैसल ने ट्वीट किया कि उनके पिता के एक साथ कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था जिसकी वजह से उनका निधन हो गया। उन्होंने लिखा कि अपने सभी शुभचिंतकों से अनुरोध करता हूं कि इस वक्त कोरोना वायरस के नियमों का कड़ाई से पालन करें और सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर द्दढ़ रहें और किसी भी सामूहिक आयोजन में जाने से बचें।' 71 साल के पटेल अक्तूबर में कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे। उन्होंने ट्वीट कर खुद के कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी दी थी। उनकी तबीयत अचानक बिगड़ने पर उन्हें 15 नवंबर को मेदांता अस्पताल के ICU में भर्ती कराया गया था। 

PunjabKesari

राजनीतिक सफर
सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार रहे पटेल का जन्म 21 अगस्त 1949 को गुजरात में भरुच जिले के पिरामल गांव में हुआ था। उस वक्त भरूच कांग्रेस का गढ़ हुआ करता था। वह पहली बार 1977 में 26 साल की उम्र में भरूच से लोकसभा का चुनाव जीतकर संसद पहुंचे थे। पटेल यहां से तीन बार लोकसभा सांसद चुने गए। पार्टी में धीरे-धीरे उनका कद बढ़ता गया और 1985 में तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी के संसदीय सचिव बनाए गए। पटेल को 1986 में गुजरात कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया। वह 1988 में गांधी-नेहरू परिवार द्वारा संचालित जवाहर भवन ट्रस्ट के सचिव बनाए गए। वह सोनिया और राजीव दोनों के विश्वासपत्र रहे। वह तीन बार लोकसभा सांसद के अलावा पांच बार राज्यसभा सांसद भी रह चुके थे। पर्दे के पीछे से राजनीति करने वाले पटेल को 2018 में कांग्रेस पार्टी का कोषाध्याक्ष नियुक्त किया गया था।

PunjabKesari

Related Story

Trending Topics

Indian Premier League
Sunrisers Hyderabad

157/8

20.0

Punjab Kings

112/3

12.2

Punjab Kings need 46 runs to win from 7.4 overs

RR 7.85
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!