मुख्य खबरें

मिशन छत्तीसगढ़: अर्बन माओवादियों के बहाने PM मोदी का कांग्रेस पर हमला

मिशन छत्तीसगढ़: अर्बन माओवादियों के बहाने PM मोदी का कांग्रेस पर हमला

रायपुर: छत्तीगसढ़ में हो रहे विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नक्सल प्रभावित बस्तर में चुनाव-प्रचार किया। जगदलपुर में रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि त्योहार का दिन है, लेकिन फिर भी यहां इतनी भीड़ है, आपके स्नेह और प्यार के लिए बहुत आभार। प्रधानमंत्री ने कहा कि अटल जी ने बस्तर के लिए कुछ सपने देखे थे। उनके सपनों को पूरा करने के लिए बार-बार छत्तीसगढ़ और बस्तर आता हूं और जब तक अटल जी का सपना पूरा नहीं कर लेता मैं चैन से नहीं बैठूंगा। उन्होंने कहा कि मैं यहां खाली हाथ नहीं आया हूं, विकास की योजना लाया हूं और इसे हम पूरा भी करेंगे। पहले की सरकारें कहती थीं कि नक्सलियों की वजह से यहां विकास नहीं हो रहा है, लेकिन हमारी सरकार ने सभी मुश्किलों का सामना कर विकास किया। अर्बन माओवादी के बहाने पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि जो अर्बन माओवादी हैं, वो शहरों में एसी में रहते हैं और उनके बच्चे विदेशों में पढ़ते हैं, लेकिन वहां बैठे-बैठे वे आदिवासी बच्चों की जिंदगी बर्बाद करने का काम करते हैं। कांग्रेस अर्बन माओवादियों के पक्ष में खड़ी होती है, लेकिन नक्सलवाद को मुद्दा बनाकर कांग्रेस वोटों की खेती कर रही है।
PunjabKesari

मोदी के भाषण की खास बातें

  • सीएम रमन सिंह ने पिछले 10 साल में अकेले छत्तीसगढ़ का विकास किया, उन्हें पहले की सरकार ने कोई मदद नहीं की, बल्कि उनके विकास कार्यों में रोड़ा ही अटकाया। 
  • हमारा उद्देश्य बस्तर को समृद्ध और मजबूत बनाना है। यहां से भुखमरी और गरीबी को दूर करना है। 
  • पहले की सरकारों का कारोबार तेरा-मेरा का था, लेकिन हमारा मकसद 'सबका साथ सबका विकास' है।
  • जिन बच्चों के हाथों में कलम होनी चाहिए, उनके हाथों में बंदूक है।
  • पहले की सरकारों में बिचौलियों का रोल होता था, लेकिन हमने आने के बाद सबसे पहले इन बिचौलियों को हटाया है।

PunjabKesari
2 चरणों में होंगे मतदान
छत्तीसगढ़ में हो रहे विधानसभा चुनाव में दो चरणों में मतदान होगा। पहले चरण में इस महीने की 12 तारीख को बस्तर क्षेत्र के सात जिले और राजनांदगांव जिले की 18 सीटों अंतागढ़, भानुप्रतापपुर, कांकेर, केशकाल, कोंडागांव, नारायणपुर, बस्तर, जगदलपुर, चित्रकोट, दंतेवाड़ा, बीजापुर, कोंटा, राजनांदगांव, डोंगरगढ़, डोंगरगांव, खुज्जी, खैरागढ़ और मोहला-मानपुर पर मतदान होगा। इन सीटों में से 12 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए तथा एक सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है। पहले चरण में राजनांदगांव से मुख्यमंत्री रमन सिंह और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी चुनाव मैदान में हैं। वहीं, पहले चरण में रमन मंत्रिमंडल के दो सदस्यों और एक भाजपा सांसद के भाग्य का भी फैसला होना है। राज्य में भाजपा पिछले 15 वर्षों से सत्ता में है और इस बार वह 65 सीटों पर जीत के साथ चौथी बार सरकार बनाने का प्रयास कर रही है। वहीं, कांग्रेस भी इस बार सत्ता में आने का प्रयास कर रही है। राज्य में सरकार बचाने और बनाने के लिए भाजपा और कांग्रेस ने अपनी ताकत झोंक दी है।  इधर, राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की पार्टी जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) बहुजन समाज पार्टी के साथ गठबंधन कर चुनाव मैदान में है, जिससे कई सीटों पर त्रिकोणीय मुकाबला होने की संभावना है। राज्य में वर्ष 2013 में हुए विधानसभा चुनाव में 90 सीटों में से 49 सीटों पर भाजपा ने और 39 सीटों पर कांग्रेस ने जीत हासिल की थी। वहीं, एक-एक सीट पर बसपा और निर्दलीय उम्मीदवार ने जीत हासिल की थी।

Related News