देश

छत्तीसगढ़ ​चुनाव परिणामों के बाद कांग्रेस करेगी रिजॉर्ट पॉलिटिक्स का रुख

छत्तीसगढ़ ​चुनाव परिणामों के बाद कांग्रेस करेगी रिजॉर्ट पॉलिटिक्स का रुख

नई दिल्ली: कांग्रेस ने अगले सप्ताह छत्तीसगढ़ चुनाव परिणाम आने के बाद अपने विधायकों को एक स्थान पर रखने का फैसला किया है, क्योंकि पार्टी को मिले फीडबैक ने राज्य में बहुमत प्राप्त करने का विश्वास व्यक्त किया गया है। कांग्रेस की चिंता ये है कि राज्य की राजनीतिक गतिविधियां उसकी स्थिति बिगाड़ न दें। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा विगत दिनों बुलाए गए प्रमुख प्रबंधकों की बैठक में इसके पर्यवेक्षकों, जिला यूनिटों और मतदान रुझानों से एकत्रित किए गए फीडबैक के बारे में जानकारी दी गई।

PunjabKesariसूत्रों का कहना है कि छत्तीसगढ़ कांग्रेस के प्रभारी पी एस पुनिया ने पार्टी नेतृत्व को बताया कि कांग्रेस को लगभग 50 सीटें प्राप्त होंगी। यह भी दावा किया गया कि कांग्रेस से अलग हुए अजीत जोगी ने विलासपुर, मुंगेली, बलोदा बाजार,जंजगेर चंपा के सतनामी बेल्ट में वोट हा​सिल की है। मगर ओबीसी के वोट कांग्रेस को मिले जो कि जोगी के खिलाफ है। सूत्रों ने कहा कि राहुल ने आशा व्यक्त की कि यह फीडबैक सच साबित होगा,मगर साथ ही उन्होंने जल्दबाजी में समारोह करने के खिलाफ चेताया भी। बैठक में राज्य कांग्रेस के प्रमुख भूपेश वघेल, सीएलपी,टी एस सिंह देव और अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव चंदन यादव अरुण औरान भी शामिल थे।

PunjabKesariछत्तीसगढ़ में कांग्रेस पिछले लगातार तीन चुनाव में पराजित हुई है चुनाव परिणाम कांग्रेस के पक्ष में आने पर पार्टी प्रबंधकों को निर्देश दिया गया है कि सभी विधायकों को एक स्थान पर इकठ्ठा किया जाए। कांग्रेस की चिंता ये है कि जमीनी स्त्रोत से धनी प्रान्त को राज्य के अमीर विरोधी राजनेता स्थिति का नाजायज फायदा उठा सकते हैं। इस मामले की संवेदनशीलता इस बात का सबूत है कि जब विधायकों और महत्वपूर्ण नेता जहाज पर चढ़ गए थे।

PunjabKesariकांग्रेसी नेताओ को मणिपुर और गोवा में हुए घटनाक्रम से भी सबक मिला है जंहा एकल सबसे बड़ी पार्टी होने के बावजूद सरकार बनाने का निमंत्रण नही मिला था। कांग्रेस के ​वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने पिछले सप्ताह चुनाव आयोग को छत्तीसगढ़ की विशेष मांगो की सूची सौंपी थी जिसमें ईवीएम की ट्रांसफार्मिंग, मतगणना और पोस्टल मतों की गिनती का मामला शामिल था। 

Related News