अरूणाचल प्रदेश के सीमावर्ती गांवों में सड़कों के निर्माण से बचती थी कांग्रेस की सरकारें: रिजिजू का दावा

Edited By rajesh kumar, Updated: 22 May, 2022 07:49 PM

congress governments construction roads border villages arunachal pradesh

केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने रविवार को दावा किया कि केंद्र की पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकारें भारत-चीन सीमा से लगे अरुणाचल प्रदेश के गांवों में अच्छी सड़कें नहीं बनाना चाहती थीं, क्योंकि उन्हें डर था कि इससे पड़ोसी देश के सैनिक राज्य में घुस सकते थे।

 

नेशनल डेस्क: केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने रविवार को दावा किया कि केंद्र की पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकारें भारत-चीन सीमा से लगे अरुणाचल प्रदेश के गांवों में अच्छी सड़कें नहीं बनाना चाहती थीं, क्योंकि उन्हें डर था कि इससे पड़ोसी देश के सैनिक राज्य में घुस सकते थे। यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए, लोकसभा में अरुणाचल पश्चिम संसदीय क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने वाले रिजिजू ने कहा कि केंद्र में राजग के सत्ता में आने के बाद परिदृश्य बदल गया, नरेंद्र मोदी सरकार ने यह सुनिश्चित किया कि सीमा पर अच्छी सड़कों का निर्माण हो।

कानून मंत्री ने कहा, “पूर्व रक्षा मंत्री एके एंथनी ने संसद में खुले तौर पर कहा था कि आजादी के बाद से सरकारें चीन सीमा से सटे इलाकों में सड़क निर्माण से बचने की नीति पर चली, क्योंकि उन्हें डर था कि चीनी सेना और लोग भारतीय क्षेत्र में आ जाएंगे और शांति बाधित करेंगे।” उन्होंने कहा, “ इसी मानसिकता के साथ केंद्र की सत्ता में रही सरकारों ने सीमावर्ती क्षेत्रों में लोगों के विकास के बारे में सोचे बिना दशकों तक देश पर शासन किया।”

रिजिजू ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें "यह सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी सौंपी है कि हर विकास योजना अंतिम कोने और अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे।” उन्होंने कहा, “हम अपने पड़ोसी देश के साथ संबंधों को खराब नहीं करना चाहते थे, साथ ही यह भी सुनिश्चित करना चाहते थे कि हमारे क्षेत्र के हर इंच की रक्षा के लिए कदम उठाए जाएं। इसी विचार से प्रधानमंत्री ने योजनाएं बनाना शुरू किया और आज हम विकास देख रहे हैं।” मंत्री ने राज्य के निर्वाचित जन प्रतिनिधियों से पूर्वोत्तर के विकास के प्रधानमंत्री के मिशन में उनके साथ हाथ मिलाने का आह्वान किया।

उन्होंने कहा, “इससे पहले, पूर्वोत्तर में स्थिति दयनीय थी क्योंकि अधिकांश प्रधानमंत्रियों और उनके कैबिनेट सहयोगियों ने इस क्षेत्र को एक अतिरिक्त क्षेत्र माना था। मगर राजग के सत्ता में आने के बाद चीज़ें बदल गईं।” रिजिजू ने कहा, “ कैबिनेट की बैठक हो या कोई अहम सरकारी समारोह, प्रधानमंत्री पहले विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन के जरिए पूर्वोत्तर राज्यों के विकास के लिए सुझाव मांगते हैं। अरुणाचल प्रदेश के सभी गांव अब सड़क से जुड़ गए हैं और बिजली तथा पानी की आपूर्ति हो रही है, जो एक दशक पहले तक सपना था।” 

 

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!