नेशनल हेराल्ड ऑफिस में ईडी की छापेमारी को कांग्रेस ने बताया बदले की राजनीति, भाजपा बोली- कानून अपना काम करेगा

Edited By Yaspal,Updated: 02 Aug, 2022 07:44 PM

congress told ed raids in national herald office as revenge politics

कांग्रेस ने ‘नेशनल हेराल्ड' अखबार के मुख्यालय समेत कई स्थानों पर प्रवर्तन निदेशालय की छापेमारी को प्रतिशोध की राजनीति करार देते हुए मंगलवार को कहा कि वह केंद्र सरकार के इस तरह के कदमों से झुकने और डरने वाली नहीं है तथा महंगाई एवं बेरोजगारी को लेकर...

नई दिल्लीः कांग्रेस ने ‘नेशनल हेराल्ड' अखबार के मुख्यालय समेत कई स्थानों पर प्रवर्तन निदेशालय की छापेमारी को प्रतिशोध की राजनीति करार देते हुए मंगलवार को कहा कि वह केंद्र सरकार के इस तरह के कदमों से झुकने और डरने वाली नहीं है तथा महंगाई एवं बेरोजगारी को लेकर आवाज बुलंद करती रहेगी। दूसरी तरफ, भारतीय जनता पार्टी ने कहा कि इस मामले में कानून अपना काम करेगा।

कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने ट्वीट किया, ‘‘हेराल्ड हाउस पर छापेमारी भारत के मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस पर लगातार हो रहे हमले का हिस्सा है। हम उन सभी लोगों के खिलाफ की जा रही प्रतिशोध की राजनीति की कड़ी निंदा करते हैं, जो मोदी सरकार के खिलाफ बोलते हैं। आप हमें चुप नहीं करा सकते।''

कांग्रेस के आरोप पर भाजपा प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने सवाल किया कि क्या इस मामले में अदालत द्वारा गांधी परिवार को राहत नहीं दिया जाना भी ‘प्रतिशोध' है? भाजपा महासचिव सीटी रवि ने कहा कि ‘इंडियन नेशनल कांग्रेस में कुछ भी इंडियन नहीं है।' उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘भ्रष्ट सोनिया गांधी और उनके पुत्र राहुल गांधी ईडी की कार्रवाई का सामना कर रहे हैं, क्योंकि उन्होंने ‘नेशनल हेराल्ड' मामले में गड़बड़ी की है।'' रवि ने कहा, ‘‘गुलाम इसे प्रतिशोध कह सकते हैं, लेकिन कानून अपना काम करेगा।''

कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने संसद भवन के बाहर संवाददाताओं से कहा, ‘‘आज ईडी ने ‘नेशनल हेराल्ड' के दफ्तर पर छापा मारा। मोदी सरकार बदले की भावना से आज जिस तरह काम कर रही है, वैसा आजाद भारत के इतिहास में कभी नहीं हुआ।'' उन्होंने कहा, ‘‘यंग इंडियन एक ‘नॉट फ़ॉर प्रॉफिट' कंपनी है और इसके निदेशक को कोई मुनाफा मिल ही नहीं सकता। एजेएल एक अखबार है, कोई व्यावसायिक संगठन नहीं है- जैसा भाजपा प्रचारित कर रही है।''

सुप्रिया ने कहा, ‘‘ ईडी ने सोनिया गांधी जी से 3 दिन पूछताछ की; राहुल गांधी जी से 5 दिनों में 50 घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की। अब या तो ईडी बिलकुल नकारा बन चुकी है या भाजपा का ‘इलेक्शन डिपार्टमेंट' बन चुकी है।'' उन्होंने कहा, ‘‘इस देश के असल मुद्दे महंगाई और बेरोजगारी हैं। आप कितने ही छापे मारे लो, हम सड़क से संसद तक इन दो मुद्दों पर आवाज़ उठाते रहेंगे। ईडी के छापों से डरने वाले और लोग होंगे, कांग्रेस, हमारे नेता और हम इन छापों से नहीं डरेंगे।''

उधर, कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने ईडी की कार्रवाई के खिलाफ ‘हेराल्ड हाउस' के बाहर प्रदर्शन किया। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और केंद्र सरकार के खिलाफ नारे लगाए। प्रवर्तन निदेशालय ने धनशोधन मामले की जांच के तहत कांग्रेस के स्वामित्व वाले ‘नेशनल हेराल्ड' समाचार पत्र के मुख्यालय सहित यहां 12 स्थानों पर मंगलवार को छापा मारा। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

अधिकारियों ने बताया कि धन शोधन (निवारण) अधिनियम (पीएमएलए) की आपराधिक धाराओं के तहत छापे मारे जा रहे हैं, ताकि यह पता लगाने के लिये अतिरिक्त सबूत एकत्र किए जा सकें कि धन का लेन-देन किसके बीच हुआ। ईडी ने इस मामले में हाल में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उनके बेटे राहुल गांधी तथा कांग्रेस के कुछ अन्य नेताओं से पूछताछ की थी।

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!