रक्षा मंत्री का ऐलान, 2 माह में देंगे 1 लाख पूर्व सैनिकों को OROP

Edited By Updated: 04 Nov, 2016 08:37 AM

defence minister manohar parrikar

रक्षा मंत्री मनोहर पार्रिकर ने कहा कि केवल एक लाख पूर्व सैनिकों को वन रैंक वन पैंशन योजना के अनुसार पैंशन लेने में दिक्कत पेश आ रही है और इस मामले को 2 महीने में सुलझा दिया जाएगा।

बडग़ाम (श्रीनगर): रक्षा मंत्री मनोहर पार्रिकर ने कहा कि केवल एक लाख पूर्व सैनिकों को वन रैंक वन पैंशन योजना के अनुसार पैंशन लेने में दिक्कत पेश आ रही है और इस मामले को 2 महीने में सुलझा दिया जाएगा। पार्रिकर ने क्षेत्र में पूर्व सैनिकों को संबोधित करते हुए कहा कि 20 लाख में से सिर्फ एक लाख पूर्व सैनिकों को तकनीकी कठिनाई या दस्तावेजीकरण की समस्या की वजह से वन रैंक वन पैंशन (ओ.आर. ओ.पी.) योजना के अनुसार पैंशन नहीं मिल रही है। रक्षा मंत्री ने सेना प्रमुख जनरल दलबीर सिंह के साथ स्वतंत्र भारत के प्रथम परमवीर चक्र विजेता मेजर सोमनाथ शर्मा के स्मारक स्थल पर पहुंच कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

पार्रिकर ने कहा कि सरकार ओ.आर.ओ.पी. के मुद्दे पर संवेदनशील है और पिछली सरकारों ने 43 साल से इसे लागू नहीं किया था। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार ने ही ओ.आर.ओ.पी. को लागू किया है। हर साल 7500 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे और 11000 करोड़ रुपए के बकाया का भुगतान किया जा चुका है। पैंशन में 23 से 24 प्रतिशत औसत वृद्धि हुई है। पूर्व सैनिकों से बातचीत करने और उनकी समस्याओं को सुनने के बाद पार्रिकर ने उन्हें आश्वासन दिया कि उनकी समस्याओं का निवारण किया जाएगा। आज मुझे आपसे बातचीत के लिए 10 मिनट मिले थे, लेकिन मैंने इसे 40 मिनट तक बढ़ा दिया। अगली बार मैं आपके साथ आधा दिन बिताऊंगा।

उन्होंने जवानों से कहा कि वे पाक गोलीबारी का मुंहतोड़ जवाब दें। पाॢरकर ने कहा कि कुछ गुमराह युवक स्कूलों को जला कर कश्मीरियत पर प्रहार कर रहे हैं तथा कश्मीरी बच्चों का भविष्य बर्बाद कर रहे हैं। रक्षा मंत्री ने कहा कि पिछले 4 महीनों में पाकिस्तान का सहारा लिए कई असामाजिक तत्वों, जिन्हें कश्मीर के शांतिप्रिय लोगों से कुछ लेना-देना नहीं है, ने कश्मीर की अर्थव्यवस्था को बड़ा झटका दिया है।

आत्महत्या करने वाला ग्रेवाल कांग्रेस वर्कर था: वी.के. सिंह
केंद्रीय मंत्री और पूर्व सेनाध्यक्ष वी.के. सिंह ने कहा कि आत्महत्या करने वाला पूर्व सैनिक रामकिशन ग्रेवाल एक कांग्रेस वर्कर था और उसकी आत्महत्या का ओ.आर.ओ.पी. से कोई संबंध नहीं था। उन्होंने कल कहा था कि ग्रेवाल की मानसिक स्थिति की जांच करने की जरूरत है। सिंह ने बताया कि ग्रेवाल कांग्रेस टिकट पर गांव का सरपंच बना था। उन्होंने कहा कि ग्रेवाल की मौत से वह दुखी हैं मगर यह आत्महत्या ओ.आर.ओ.पी. को लेकर नहीं हुई बल्कि बैंक के साथ उनकी समस्या थी।

Related Story

India

179/5

20.0

South Africa

131/10

19.1

India win by 48 runs

RR 8.95
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!