दिल्ली: कोरोना के केस में इजाफा जरूर है लेकिन लॉकडाउन की कोई योजना नहीं है: सत्येंद्र जैन

Edited By rajesh kumar, Updated: 13 Jan, 2022 12:27 PM

definitely an increase cases of corona but there no plan lockdown

देश में कोरोना महामारी की तीसरी लहर दस्तक दे चुकी है। वहीं, राजधानी दिल्ली में कोविड के मामलों में दिन प्रतिदन बढ़ौत्तरी दर्ज की जा रही है। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा है कि, आज राजधानी में कोविड-19 के करीब 27,500 मामले आ सकते...

नेशनल डेस्क: देश में कोरोना महामारी की तीसरी लहर दस्तक दे चुकी है। वहीं, राजधानी दिल्ली में कोविड के मामलों में दिन प्रतिदन बढ़ौत्तरी दर्ज की जा रही है। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा है कि, आज राजधानी में कोविड-19 के करीब 27,500 मामले आ सकते हैं। उन्होंने बताया कि बेशक कोविड-19 के मामले बढ़ रहे हैं लेकिन अस्पतालों में भर्ती होने वाली मरीजों की संख्या स्थिर है, जो दिखाती है कि जल्द ही कोरोना वायरस के मामलों में कमी आ सकती है। 

Delhi is expected to report around 27,500 COVID cases today as well. The rate of hospital admissions among COVID patients is stagnant for the last 4 days, which is a good sign. Bed occupancy stands at 15%... There is no plan of lockdown: Delhi Health Minister Satyendar Jain pic.twitter.com/DOCb4HpSwj

— ANI (@ANI) January 13, 2022

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि दिल्ली में फिलहाल लॉकडाउन लगाने की कोई योजना नहीं है। उन्होंने कहा कि कोविड मामलों में कमी आने के बाद हम लगाई गई पांबदियों को भी जल्द हटा देंगे। महामारी से हुई मौत आंकड़ों के विश्लेषण के अनुसार, जान गंवाने वालों में ज्यादातर वे लोग हैं जिन्हें अन्य बीमारियां भी थीं। राष्ट्रीय राजधानी में इस महीने के पहले 12 दिनों में 133 लोगों की मौत हो चुकी है। पिछले पांच महीनों में 54 लोगों की मौत हुई। इनमें से नौ की दिसंबर में, सात की नवंबर में, चार की अक्टूबर में, पांच की सितंबर में और 29 लोगों की मौत अगस्त में हुई। जुलाई में संक्रमण से दिल्ली में 76 लोगों ने जान गंवायी।

जैन ने कहा कि मामलों में जल्द ही गिरावट आनी शुरू हो सकती है। उन्होंने पत्रकारों से कहा, ‘‘पिछले चार दिनों में अस्पतालों में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या स्थिर हो गयी है। मामले बढ़ रहे हैं लेकिन अस्पताल में भर्ती मरीजों की दर उसी अनुपात में नहीं बढ़ी है। जब 27,000 मामले आ रहे हैं तो अस्पताल में भर्ती मरीजों की दर उतनी ही है जितनी 10,000 मामले सामने आने के समय थी। अस्पताल में भर्ती मरीजों की स्थिर दर यह संकेत देती है कि कोरोना वायरस की यह लहर स्थिर हो गयी है।'' दिल्ली में बुधवार को कोविड-19 के 27,561 मामले आए, जो महामारी के फैलने के बाद से एक दिन में आए सबसे अधिक मामले हैं और 40 लोगों की मौत हुई जबकि संक्रमण दर बढ़कर 26.22 प्रतिशत हो गयी।

 

Related Story

Trending Topics

India

179/5

20.0

South Africa

131/10

19.1

India win by 48 runs

RR 8.95
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!