कपिल सिब्बल ने कांग्रेस को कहा बाय-बाय, बोले- मैंने 16 मई से अलग कर ली हैं अपनी राहें

Edited By rajesh kumar, Updated: 25 May, 2022 01:31 PM

kapil sibal told congress bye bye

आज कांग्रेस पार्टी को बड़ा झटका लगा है। पार्टी के वरिष्ठ नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने समाजवादी पार्टी के साथ जाने का फैसला लिया है।

नेशनल डेस्क: आज कांग्रेस पार्टी को बड़ा झटका लगा है। पार्टी के वरिष्ठ नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने समाजवादी पार्टी के साथ जाने का फैसला लिया है। सिब्बल ने सपा के टिकट पर राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन भरा है। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने संवाददाताओं को बताया कि सिब्बल ने पार्टी के समर्थन से राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन दाखिल किया है। नामांकन के दौरान उनके साथ सपा अध्यक्ष के साथ साथ पार्टी के प्रमुख महासचिव रामगोपाल यादव तथा अन्य वरिष्ठ सपा नेता मौजूद थे।

हम विपक्ष में रह कर एक गठबंधन बनाना चाहते हैं
नामांकन दाखिल करने के बाद सिब्बल ने स्पष्ट किया "मैंने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर नामांकन भरा है और हम अखिलेश जी का धन्यवाद करते हैं कि उन्होंने हमें समर्थन दिया है।" कपिल सिब्बल ने बताया कि वह पिछले 16 मई को कांग्रेस से इस्तीफा दे चुके हैं। उन्होंने कहा "हम विपक्ष में रह कर एक गठबंधन बनाना चाहते हैं। हम चाहते हैं कि 2024 में ऐसा माहौल बने कि मोदी सरकार की जो खामियां हैं उन्हें जनता तक पहुंचाया जाए। मैं खुद अपनी ओर से प्रयास करूंगा।" 

कपिल सिब्बल देश के जाने माने अधिवक्ता हैं- अखिलेश
सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सिब्बल को समर्थन देने के औचित्य का जिक्र करते हुए कहा "कपिल सिब्बल देश के जाने माने अधिवक्ता हैं। वह लोकसभा में या राज्यसभा में रहे हों, उन्होंने बातों को अच्छी तरह रखा है। हमें उम्मीद है कि देश में जो बड़े-बड़े सवाल हैं... जैसे... आज देश किस रास्ते पर है, महंगाई रुक नहीं रही है और चीन लगातार हमारी सीमाओं पर आगे बढ़ता जा रहा है... इन तमाम बड़े-बड़े सवालों पर कपिल सिब्बल समाजवादी पार्टी के और अपने विचारों को आगे रखेंगे।"

सिब्बल को समर्थन देकर इस नाराजगी को दूर करने की कोशिश
गौरतलब है कि सिब्बल को सपा की ओर से राज्यसभा प्रत्याशी बनाए जाने की अटकलें मंगलवार से ही लगाई जा रही थीं। हालांकि पार्टी ने इसकी पुष्टि नहीं की थी। सिब्बल ने, भ्रष्टाचार तथा अनेक अन्य आरोपों में लगभग 27 महीने तक सीतापुर जेल में बंद रहे सपा के वरिष्ठ नेता एवं विधायक आजम खां को उच्चतम न्यायालय से जमानत दिलवाने में उनके वकील के तौर पर महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। खां अपने प्रति कथित बेरुखी को लेकर सपा नेतृत्व से नाराज हैं। माना जा रहा है कि सिब्बल को समर्थन देकर इस नाराजगी को दूर करने की कोशिश की गई है।

आगामी 10 जून को होगा मतदान
उत्तर प्रदेश की 11 राज्यसभा सीटों के लिए नामांकन की प्रक्रिया मंगलवार को शुरू हुई है। इस चुनाव के लिए मतदान आगामी 10 जून को होगा। प्रदेश की 403 सदस्यीय विधानसभा में सपा के 111 सदस्य हैं और वह तीन उम्मीदवारों को आसानी से राज्यसभा भेज सकती है। पार्टी ने फिलहाल सिब्बल को अपना समर्थित प्रत्याशी घोषित किया है। बाकी दो सीटों पर अपने उम्मीदवारों को लेकर सपा ने अभी खुलासा नहीं किया है।

 

 

Related Story

Trending Topics

Ireland

India

Match will be start at 28 Jun,2022 10:30 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!