ममता ने साधा केंद्र पर निशाना, बोलीं- बीजेपी का शासन हिटलर और स्टालिन से भी बदतर

Edited By Yaspal, Updated: 24 May, 2022 12:39 AM

mamta targeted the center said bjp s rule is worse than hitler and stalin

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर राज्य के मामलों में हस्तक्षेप करने के लिए केंद्रीय एजेंसियों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हुए सोमवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली सरकार ‘‘देश के संघीय ढांचे को...

नेशनल डेस्कः पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर राज्य के मामलों में हस्तक्षेप करने के लिए केंद्रीय एजेंसियों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हुए सोमवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली सरकार ‘‘देश के संघीय ढांचे को ध्वस्त कर रही है।'' बनर्जी ने दावा किया कि ‘‘भाजपा का शासन एडॉल्फ हिटलर, जोसेफ स्टालिन या बेनिटो मुसोलिनी से भी बदतर है।'' उन्होंने कहा कि लोकतंत्र की रक्षा के लिए केंद्रीय एजेंसियों को ‘‘स्वायत्तता दी जानी चाहिए।''

ममता ने कहा, ‘‘भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार राज्य के मामलों में हस्तक्षेप करने के लिए केंद्रीय एजेंसियों का इस्तेमाल कर रही है। वह देश के संघीय ढांचे को ध्वस्त कर रही है। एक तुगलकी शासन लागू है।'' उन्होंने किसी का नाम लिये बिना कहा, ‘‘एजेंसियां काम नहीं कर सकतीं क्योंकि कोई स्वायत्तता नहीं है। स्वायत्तता भाजपा के और दो व्यक्तियों के हाथों में है। एडॉल्फ हिटलर, जोसेफ स्टालिन या बेनिटो मुसोलिनी के समय में भी इस तरह का राजनीतिक हस्तक्षेप नहीं था।''

उल्लेखनीय है कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री बनर्जी लंबे समय से केंद्र की भाजपा सरकार पर केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई), प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) जैसी केंद्रीय एजेंसियों का उपयोग करके विरोधियों को ‘‘परेशान'' करने का आरोप लगा रही हैं, जिसमें उनकी पार्टी भी शामिल है। सीबीआई बंगाल में हिंसा, बलात्कार और तस्करी से जुड़े कई मामलों की जांच कर रही है। इन मामलों में पिछले साल के विधानसभा चुनावों के बाद हिंसा की घटनाएं भी शामिल हैं।

ममता ने कहा, ‘‘मैं चाहती हूं कि केंद्र सरकार की एजेंसियों को स्वायत्तता दी जाए ताकि वे निष्पक्ष रूप से काम कर सकें। कोई राजनीतिक प्रतिशोध नहीं होना चाहिए। सरकार एजेंसी के कर्मचारियों को वेतन प्रदान करे और कुछ नहीं। मैं इस मुद्दे को सबसे पहले उठाने वालों में हूं। अगर हम भारत में लोकतंत्र को बचाना चाहते हैं तो ऐसा करना होगा।''

मुख्यमंत्री ने इस दौरान शुक्रवार को मालदा में झोपड़ियों को ध्वस्त करने के बिहार पुलिस के कथित कदम की भी आलोचना की। उन्होंने कहा, ‘‘पुलिस की एक टीम बिहार से आयी और मालदा के सीमावर्ती इलाकों में झोपड़ियों को ध्वस्त कर दिया। आपको बंगाल पुलिस को सूचित करना चाहिए था? देश में क्या हो रहा है?'' अधिकारियों ने कहा है कि बिहार पुलिस ने पश्चिम बंगाल के मालदा जिले में अंतरराज्यीय सीमा पर नौ झोपड़ियों को कथित तौर पर ध्वस्त कर दिया और महिलाओं सहित कई निवासियों के साथ तब मारपीट की, जब उन्होंने इस अभियान का विरोध किया।

Related Story

India

179/5

20.0

South Africa

131/10

19.1

India win by 48 runs

RR 8.95
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!