दिल्ली में योगी आदित्यनाथ, नई सरकार के गठन को लेकर पीएम मोदी और शीर्ष नेतृत्व से की मुलाकात

Edited By Yaspal,Updated: 13 Mar, 2022 08:01 PM

met pm modi and the top leadership regarding the formation of the new government

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनावों में करीब दो तिहाई बहुमत से जीत हासिल करने के बाद राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज यहां प्रधानमंत्री नरेेन्द्र मोदी सहित भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से मुलाकात की और नयी सरकार के गठन एवं स्वरूप को...

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनावों में करीब दो तिहाई बहुमत से जीत हासिल करने के बाद राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज यहां प्रधानमंत्री नरेेन्द्र मोदी सहित भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से मुलाकात की और नयी सरकार के गठन एवं स्वरूप को लेकर विचार विमर्श किया। 

योगी आदित्यनाथ आज दोपहर गाज़यिाबाद के हिंडन हवाईअड्डे पर पहुंचे और वहां से दिल्ली में भाजपा के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बी एल संतोष से मिलने उनके नौ अशोक रोड स्थित आवास पर पहुंचे। इसके बाद तीन बजे उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडु से भेंट की। उसके बाद वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मिलने उनके सात लोक कल्याण मार्ग स्थित आवास पर पहुंचे।  प्रधानमंत्री से मिलने के तुरंत बाद उनकी भेंट भाजपा के अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा से हुई। रात में उनकी भेंट केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह से होनी है।

राज्य विधानसभा चुनाव में 37 साल पुराना रिकॉडर् तोड़ते हुए भाजपा ने लगातार दूसरी बार दो तिहाई बहुमत से जीत हासिल की है। हालांकि उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य समेत 11 मंत्री पराजित हो गये हैं। योगी आदित्यनाथ की इस यात्रा का उद्देश्य नयी सरकार के गठन एवं स्वरूप को लेकर राष्ट्रीय नेतृत्व से चर्चा करना है।

जानकारों का कहना है कि नई सरकार का शपथ ग्रहण होली के बाद होने की संभावना है। नई सरकार में जातीय एवं क्षेत्रीय संतुलन बिठाने की कवायद होगी। ऐसी भी चर्चा है कि इस बार चार उपमुख्यमंत्री बनाये जाने का विचार है जो राज्य के विभिन्न हिस्सों का प्रतिनिधित्व करते हों।

उपमुख्यमंत्री पद के लिए ब्राह्मण नेता के रूप में बृजेश पाठक अथवा मथुरा से निर्वाचित श्रीकांत शर्मा, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं कुर्मी नेता स्वतंत्र देव सिंह और आगरा से चुनाव जीतीं जाटव समाज की बेबी रानी मौर्य का नाम प्रमुखता से लिया जा रहा है। चूंकि केशव प्रसाद मौर्य पार्टी में अन्य पिछड़े वर्ग के एक बड़े नेता हैं, उन्हें भी पुन: उपमुख्यमंत्री बनाया जा सकता है। मंत्रियों के रूप में सतीश महाना एवं सुरेश खन्ना जैसे दिग्गज भी फिर चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंचे हैं।

सतीश महाना ने आठवीं बार विधानसभा चुनाव जीता है जबकि सुरेश खन्ना शाहजहांपुर से रिकॉर्ड 9वीं बार चुनाव जीत विधायक बने हैं। नोएडा से 1.81 लाख से ज्यादा वोटों से विजयी हुए पंकज सिंह, बुन्देलखंड में वरिष्ठतम विधायक झांसी नगर से लगातार तीसरी बार निर्वाचित रवि शर्मा का नाम भी संभावित मंत्रियों के रूप में लिया जा रहा है।

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!